किसान आंदोलन का कलेक्ट्रेट समक्ष अनशन

चंद्रपुर. केंद्र सरकार द्वारा किसान व कामगार विरोध में बनाए गए तीनों कृषि कानुनो के विरोध में किसान आंदोलन चंद्रपुर ने आक्रमक भूमिका लेते हुए सोमवार को जन विकास सेना व जाट सभा के संयुक्त तत्वाधान में जिलाधीश कार्यालय समेक्ष एक दिवसीय अनशन किया.

किसानों की मांगों की पूर्तता होने तक यह किसान आंदोलन चंद्रपुर का विरोध रहने की भूमिका जनविकास सेन अध्यक्ष देशमुख ने व्यक्त की. अनशन आंदोलन के दौरान दिल्ली के किसान आंदोलन में मृतक हुए किसानों को श्रध्दांजली अर्पित की गई. इस समय नितीन बन्सोड, आप जिलाध्यक्ष मुसले, सचिव दोरखंडे, सीटु के दिलीप राव आदि उपस्थित थे. तत्पश्चात दोपहर 4 बजे राष्ट्रगान के साथ आंदोलन का समापन किया गया. 

आंदोलन में जाट सभा के गुरपाल सिंग, जन विकास ग्रामीण सेना के अनिल कोयचाले, जीवन कोटरंगे, शरद मोहुर्ले, धर्मेंद्र शेंडे, पिंटू सातपुते, धनराज जुनघरे, सचिन पिंपलशेंडे, आप के शिवराज सोनी, अजय डुकरे, दिलिप तेलंग, बबन कृष्णपल्लीवार आदि बडी संख्या में उपस्थित थे. 

आंदोलन के सफलतार्थ जन विकास सेना के घनश्याम येरगुडे, मनीषा बोबडे, सुहास फुलझेले, किशोर महाजन, दिनेश कंपू, इमदाद शेख, नामदेव पिपरे, देवराव हटवार, प्रफुल बैरम आदि कार्यकर्ताओं ने अथक प्रयास किए.