First batch arrives in Delhi from Pune airport carrying millions of vaccines from Covishield

चंद्रपुर: पिछले कई दिनों से कोरोना महामारी को देखते हुए इसका मुकाबला करनेवाली वैक्सीन की सभी को प्रतीक्षा थी, यह प्रतीक्षा आखिरकार समाप्त हुई है वैक्सीन की एक खेप आज चंद्रपुर पहुंची है. 16 जनवरी को पहले चरण में स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को वैक्सीन का टीकाकरण किया जाएगा.  स्वास्थ्य सेवक सुभाष रंगारी एवं वाहन चालक विशाल गेडाम को यह वैक्सीन तड़के चार बजे नागपुर में प्राप्त होने पर उसे सुबह 7 बजे चंद्रपुर पहुंचायी गई.

इस समय जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. राजकुमार गहलोत, जिला टीकाकरण अधिकारी डा.संदीप गेडाम, जिला पीएचएन नर्स छाया पाटिल, शीततंत्रज्ञ स्वप्नील कांबली साथ ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचरियों ने तालियां बजाकर वैक्सीन लानेवाले वाहन चालक और कर्मियों का स्वागत किया और खुशी जतायी.

कोरोना महामारी ने पूरे विश्व में कहर बरपाया है. इस वायरस पर प्रतिबंध लाने के लिए भारत सहित विश्व के सभी देश वैक्सीन की खोज थे. महाराष्ट्र के पुणे के सीरम इन्स्टिटयूट आफ इंडिया कंपनी द्वारा तैयार की गई कोविशील्ड वैक्सीन पहले चरण में स्वास्थ्य सेवा के कर्मचारियों को  देने के लिए चंद्रपुर पहुंचायी गई है.

वैक्सीन वैन चंद्रपुर में प्रवेश किए जाने के बाद जिला परिषद के वातानुकूलित भंडारण कक्ष में इसे सम्पूर्ण रूप से सुरक्षित रखा गया है. 20 हजार टीकों की पहली खेप जिले के 16 हजार 524 स्वास्थ्य विभाग के कोरोनावीरों को लगायी जाएगी. 

जिले के चयनित उपजिला अस्पताल में यह वैक्सीन सप्लाई होगी. वितरण की सम्पूर्ण जिम्मेदारी जि.प. के स्वास्थ्य विभाग को सौपी गई है. आज से जिले के 6 केन्द्रों पर यह वैक्सीन पूरी सुरक्षा के साथ पहुंचायी जाएगी. जिले में 11 बूथों पर यह टीकाकरण होगा. स्वास्थ्य विभाग के डाटा अनुसार एसएमएस आये सभी को यह टीका लगाया जाएगा. चंद्रपुर शहर के शासकीय वैद्यकीय महाविद्यालय, रामनगर, पठानपुरा स्वास्थ्य केन्द्र साथ ही वरोरा, ब्रम्हपुरी एवं राजुरा के केन्द्र पर टीकाकरण होगा.

जिले में 9हजार लाभार्थियों को टीके की पहली डोज दी जाएगी. इसमें से 9 हजार लाभार्थियों को दूसरा डोज 28 दिनों बाद दिया जाएगा.

जिले में राज्य सरकार के 12 हजार 275, केन्द्र सरकार के 414 तथा निजी क्षेत्र के 3,835 ऐसे कुल 16 हजार 524 कोरोनावीर स्वास्थ्य सेवकों का पहले चरण में वैक्सीन के लिए पंजीयन हुआ है. एक व्यक्ति को दो डोज साथ ही 10 प्रश वेस्टेज इस तरह से जिले में 36 हजार 352 टीकों की आवश्यकता थी. इसमें से 55प्रश अर्थात 20 हजार टीके फिलहाल प्राप्त हुए है. शेष टीके भी शीघ्र प्राप्त होगे.

टीका पूर्णत: सुरक्षित: जिलाधिकारी गुल्हाने

जिलाधिकारी अजय गुल्हाने ने आज कोरोना टीकाकरण के संदर्भ में जिलाधिकारी कार्यालय में समीक्षा बैठक लेकर 20 हजार टीकों का सूक्ष्मा नियोजन करने एवं जहां कोरोना का अधिक प्रभाव है ऐसे स्थानों पर प्राथमिकता से टीके देने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दिए है. यह टीका शासन ने प्रमाणित किया है. यह पूर्णत: सुरक्षित होने की जानकारी जिलाधिकारी अजय गुलहाने ने दी.

बैठक में मनपा आयुक्त राजेश मोहिते, अप्पर जिलाधिकारी विद्युत वरखेडकर, जिला परिषद के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्याम वाखर्डे, शासकीय वैद्यकीय महाविद्यालय के अधिष्ठाता डा. अरूण हुमने, जिला शल्य चिकित्सक डा.निवृत्ति राठोड, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. राजकुमार गहलोत, जिला टीकाकरण अधिकारी डा. संदीप गेडाम एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित थे.