जिले को मिलेंगे 6.50 करोड़, कोरोना से लड़ने कोई कमी नहीं होने देंगे : वडेट्टीवार

    चंद्रपुर. राज्य में कोविड 19 वायरस का संक्रमण रोकने के लिए राज्य सरकार युद्धस्तर पर प्रयास कर रही है. राज्य आपदा प्रबंधन प्रतिसाद निधि से नागपुर विभागीय आयुक्त को 13 करोड़, पुणे विभागीय आयुक्त को 15 करोड़ 80 लाख 96 हजार कुल 28 करोड़ 80 लाख 96 हजार की निधि मंजूर की गई है. इसमें चंद्रपुर और वर्धा जिलों को 6.50-6.50 करोड़ की निधि उपल्ब्ध होगी.

    पालकमंत्री विजय वडेट्टीवार ने कहा कि कोरोना प्रतिबंधात्मक उपाययोजना के लिए निधि की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी. कोविड-19 वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए वर्तमान आर्थिक वर्ष में राज्य आपदा प्रतिसाद निधि की मानक एवं दिशा निर्देशों अनुसार किए जाने वाले खर्च को पूरा करने के लिए विभागीय आयुक्त नागपुर और पुणे के विभागीय आयुक्त से प्राप्त प्रस्तावों के बाद यह निधि मंजूर की गई है.

    विभिन्न उपाययोजनाओं पर होंगे खर्च

    वडेट्टीवार ने कहा कि कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए चंद्रपुर और वर्धा जिले के लिए कुल 13 करोड़ रुपये नागपुर विभागीय आयुक्त, जबकि पुणे विभागीय आयुक्त को 15 करोड़ 80 लाख 96 हजार ऐसे कुल 28 करोड़ 80 लाख 96 हजार रुपए मंजूर हुए हैं.

    निधि से कोरोना वायरस का संक्रमण नियंत्रण करने एवं बाधित हुए व्यक्तियों के लिए विलगीकरण कक्ष स्थापित करने, वैकल्पिक निवासी व्यवस्था करने, अन्न, कपड़े, वैद्यकीय देखभाल, नमूने जमा करने पर खर्च को सहायता, मरीजों के संपर्क में आए नागरिकों की खोज, शासन के अतिरिक्त जांच प्रयोगशाला स्थापित करने का खर्च एवं उपयोग वस्तु, अग्निशमन, पुलिस, स्थानीय स्वराज्य संस्था, स्वास्थ्य सेवा के कर्मचरियों को व्यक्तिगत संरक्षण के लिए प्रतिरोधक साधन का खर्च एवं वेंटीलेटर, हवा शुद्धिकरण यंत्र, थर्मल स्कैनर्स एवं अन्य साधन के लिए खर्च करने के लिए खर्च की जाएगी. कोरोना को पूरी तरह से समाप्त करने के लिए जो भी उपाययोजना जरूरी होगी उसे शासन स्तर पर तत्परता से पूरा किया जाएगा.