Demand for transparency in OBC reservation, organization in preparation for demonstration

    सावली/मूल. ओबीसी का राजनीतिक और अन्य क्षेत्र व जिले का आरक्षण पूर्ववत करने, ओबीसी की जातिनिहाय जनगणना करने की मांक को लेकर गुरुवार को राष्ट्रीय ओबीसी महासंघ ने आंदोलन किया. पश्चात तहसीलदार के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा गया.

    सावली में आंदोलन करने वालों में तहसील अध्यक्ष तहसील अध्यक्ष कविंद्र रोहणकर, सचिव भाऊराव कोठारे, विजय कोरेवार, उषा भोयर, संजोग अभारे, अरुण पाल, विनोद धोटे, अंकुश भोपये, दिवाकर काचीनावर, आशीष मंनबत्तुनवार, दिलीप ठिकरे, पूनम झाड़े, जीवन भोयर, के.वी. एनगंटीवार, बी.बी. लाटकर, किशोर खेड़ेकर, सदाशिव सहारे, सुनील भोयर, गणपत कोठारे, भूवन सहारे, तुलसीदास भुरसे, वासुदेव शेरकी, अंकुश भांडेकर, गिरीश चिमूरकर, दीपक जवादे, अर्जुन भोयर, किशोर घोटेकर, दिवाकर गेडाम, किनेकर, नागोराव कोठारे, किशोर कोराडे, श्रीकृष्ण भुरसे, सुनील जम्पलवार, मिथुन बबनवाड़े, श्रीधर आभारे, सुनील पाल, तुलसीराम कुनघाड़कर, विशाल आदि ने हिस्सा लिया.

    सरकार को भेजा ज्ञापन

    मूल में ओबीसी समन्वय समिति की ओर से सरकार को निवेदन भेजा गया. यहां हुए आंदोलन में समन्वयक जितेंद्र बल्की, जितेंद्र लेनगुरे, लक्ष्मण खोब्रागड़े, मंगेश पोटवार, सुनील शेरकी, युवराज चावरे, गंगाधर कुनघाड़कर, कैलाश चलाख, जिला मध्यवर्ती बैंक के अध्यक्ष संतोष सिंह रावत, न.प. उपाध्यक्ष नंदू रणदिवे, कृषि उपज बाजार समिति सभापति घनश्याम येनुरकर, समता परिषद के जिलाध्यक्ष प्रा. विजय लोनबले, संजय गांधी निराधार योजना के अध्यक्ष राकेश रत्नावार, नगरसेवक प्रशांत समर्थ, अनिल साखरकर, प्रशांत लाडवे, विनोद कामड़े, सरपंच अखिल गांगरेड्डीवार, रविंद्र कामड़े, बाजार समिति के संचालक शांताराम कामड़े, माली महासंघ के विदर्भ सचिव गुरुदास गुरनुले, विवेक मुत्यलवार, राकेश ठाकरे, मारोती वराटकर, दिलीप वारजुकर, योगेश पेंटेवार, संजय पडोले, चंदू चटारे, प्रशांत बोबाटे, निखिल वाढई, महेश जेंगठे, आकाश येसनकर, प्रशांत गट्टूवार, जगदीश कडस्कर, रोहित निकुरे, प्रभाकर धोटे, सुरेश फुलझेले, गुरुदास चौधरी, राकेश मोहुर्ले, गौरव शामकुले आदि ने हिस्सा लिया.