बेमौसम बरसात से हजारों हेक्टेयर के धान का नुकसान

चंद्रपुर. शुक्रवार की शाम से शुरु हुई बरसात रात तक कम अधिक आती रही। इसकी वजह से किसानों के खेत में पड़ा धान भीग जाने से नुकसान हुआ है। जिले के गोंडपिपरी, सावली, भद्रावती, वरोरा, राजुरा-विरुर स्टेशन, बल्लारपुर आदि तहसील के फसलों का अधिक नुकसान हुआ है।

शुक्रवार की शाम को अचानक मौसम में आये बदलाव के बाद बरसात शुरु हो गई। शाम को बरसात थमने के बाद रात भर कम अधिक बरसात होती रही। इससे किसानों की बची खुखी फसल पर भी संकट आ गया है।

गेहूं, अरहर को नुकसान

वर्तमान में रबी के गेहूं, अरहर, चना और हरी सब्जियों की खेती किसानों ने की है। बेमौसम बरसात से अरहर के फूल झड गये। इसके साथ चना और राजुरा तहसील के मिरची की फसल का भी नुकसान हुआ है।

सावली तहसील के शिंदोडा निवासी किसान किशोर घाटेकर ने बताया कि इस वर्ष खरीफ में किसानों को भारी नुकसान सहना पडा, सरकार मदद के नाम पर कागजी खाना पूर्ति कर रहा है। बीसियों के चक्कर के बाद 4 से 5 हजार रुपए हाथ आ रहे है। रात में हुई बेमौसम बरसात से किसानों का काफी नुकसान हुआ है।