Tiger Attack, Cow

    दुर्गापुर . ताड़ोबा अंधारी व्याघ्र प्रकल्प अंतर्गत भटाली, किटाली, पायली, तिरवंजा, चिंचोली गांव परिसर में बाघ दिखाई दे रहा है. इसकी वजह से इन गांवों में दहशत का माहौल है. एक सप्ताह में बाघ ने 4 मवेशियों का शिकार किया है. इसकी वजह से खेतों में जाने वाले किसानों में अधिक दहशत फैली है. बाघ का बंदोबस्त करने की मांग समाजसेवी सचिन उपरे और आकाश थेरे ने की है.

    घरों से निकलना हुआ मुश्किल

    गांव के पास आकर बाघ मवेशियों का शिकार कर रहा है. बाघ की दहशत की वजह से लोगों को घर से निकलना मुश्किल हो रहा है. गांव के पास ही वेकोलि की कोयला खदान होने से बाघ के लिए अनुकूल वातावरण होने से बाघ आसानी से वहां पर रहता है. बाघ की दहशत की वजह से लोग शाम 6 बजे के बाद घर से निकलने में डर रहे हैं. इसकी वजह से उनके दैनिक काम प्रभावित हो रहे हैं. विशेष रूप से खरीफ का मौसम होने से किसान अपने खेतों में जाते हैं, किंतु लौटने की जल्दी होती है. इसकी वजह काम की गति धीमी पड़ी है. इसलिए बाघ के बंदोबस्त की मांग भटाली के लोगों ने वन विभाग से की है.