सड़क हादसे में संभ्रात परिवार के 4 युवाओं की दर्दनाक मौत

  • तेज रफ्तार कार की ट्रैक्टर से टक्कर

मूल. दोस्त का जन्मदिन होने पर उसके साथ खुशियां बांटकर वाहन से घर की ओर लौट रहे युवाओं का वाहन सामने खड़े ट्रैक्टर ट्राली से टकरा गया जिसमें दो युवक और दो युवतियों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि जिस युवक का जन्मदिन था सौभाग्य से उसकी जान बच गई. संभ्रात परिवार के और उच्च पदों पर आसीन सुशिक्षित युवाओं के साथ हुए दर्दनाक हादसे ने पूरे जिले को स्तब्ध करके रख दिया.यह हादसा मंगलवार की देर रात अजयपुर गांव के पास हुआ. आज बुधवार को शोकाकुल माहौल में सभी चारों मृतकों को अंतिम विदाई दी गई.

मूल शहर के प्रसिध्द धान और चावल के व्यापारी हिरेन गोगरी के पुत्र योग का मंगलवार को जन्मदिन था. उसने कक्षा दसवीं तक एक साथ सहपाठी रहे अपने दोस्तों को स्नेहभोजन का आमंत्रण दिया और तय अनुसार योग हिरेन गोगरी, स्मित राज पटेल, अमन सलीम शेख ,दर्शना विष्णू उधवाणी एवं प्रगति विजय निमगडे सभी 21 वर्षीय युवा  एमएच 34एम 9297 क्रमांक की गोगरी की क्रेटा कार से वलनी ग्राम स्थित विलेज वॉक ढाबे पर पहुंचे थे. जन्मदिन की पार्टी निपटाकर वें रात 11 बजे के दौरान मूल शहर की ओर लौट रहे थे कि मूल-चंद्रपुर मार्ग पर अजयपुर गांव के पास खेत से तनस भरकर अजयपुर की ओर निकला ट्रैक्टर ट्राली समेत रोड पर खड़ा हुआ था.

कार इतनी तेज रफ्तार में थी नियंत्रण हटने से कार सामने खड़े ट्रैक्टर क्र. एम एम 34 एल_ 7459 से जा टकराई और एक साईड से  ट्राली से चिरते हुए आगे निकल गई जिससे कार के परखच्चे उड़ गए. दुर्घटना इतनी भीषण थी कि कार में सवार पांच में से स्मित राजू पटेल, अमन सलीम शेख, दर्शना विष्णू उधवाणी और प्रगति विजय निमगडे की मौके पर ही मौत हो गई.जबकि कार चला रहा योग गोगरी बुरी तरह से घायल हो गया. 

दुर्घटना की जानकारी मिलते ही ग्रामीण मौके पर पहुंचे और तुरंत पुलिस दूरक्षेत्र चिचपल्ली की पुलिस कर्मियों दी गई. पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर मृतक और घायल योग को तुरंत अन्य वाहनों से चंद्रपुर रैफर किया. घायल योग गोगरी का चंद्रपुर के डा. मेहरा के अस्पताल में उपचार शुरू है. दुर्घटना के संदर्भ में बताया जा रहा है कि कार की गति काफी तेज थी. वाहन से नियंत्रण हटने की वजह से वाहन सामने खड़ी ट्रैकटर ट्राली टकराते हुए आगे निकला. इसमें ट्राली का पहिया तक निकल गया. कार का एक हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया.

दुर्घटना में मारे गए पांचों मृतक शहर के प्रतिष्ठित परिवार के सदस्य है. इन सभी की बचपन से दोस्ती थी. मृतकों में अमन शेख अपने परिवार का एकलौता पुत्र था. जबकि स्मित को एक भाई है. घटना से उनके परिवारों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है. स्मित पटेल मूल के राईस मिल संचालक राजू पटेल का पुत्र था., अमन शेख तव्वकल रेडिमेड स्टोअर्स के संचालक का पुत्र था. दर्शना उधवाणी यहां के वेरायटी स्टोअर्स के संचालक विष्णू की पुत्री, प्रगति चिचपल्ली के शिक्षक विजय निमगडे की पुत्री थी.

चारों मृतक और घायल योग गोगरी यह पांचों ने कक्षा दसवीं तक यहां के सेंट एन्स  हाईस्कूल में शिक्षण हासिल किया. सभी पढाई में काफी तेज थे. पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर प्रगति को पुणे की एक निजी कंपनी में कार्यरत थी फिलहाल लॉकडाऊन के कारण वह घर से ही काम कर रही थी. उनकी आकस्मिक मृत्यु से पूरे मूल शहर में शोक कर लहर फैल गई है. चारों की अंत्येष्टि उनके धर्म पध्दति अनुसार की गई. स्मित पटेल, दर्शना उधवाणी, प्रगति निमगडे का उमा नदी पर जबकि अमन शेख का कब्रस्थान में अंतिम संस्कार हुआ. इस घटना को लेकर शहर में शोक की लहर है.