ट्रेन ने 12 जंगली सुअरों को रौंदा

मूल. चंद्रपुर से गोंदिया की ओर जानेवाली मालगाडी रेलवे ने 12 जंगली सुअरों को रौंदने की घटना शुक्रवार की सुबह मूल समिपस्थ चिचोली गांव के पास घटी. 

बल्लारपुर-गोंदीया रेलवे मार्ग इस क्षेत्र से गुजरता है. पटरी से सटकर ही बफर जंगल का क्षेत्र होने वन्यजीव प्राणीयों का यहा मुक्त संचार होता है. सभी वन्यप्राणीयों की रेलवे लाईन से आवाजाही लगी रहती है. इसी दौरान शुक्रवार की सुबह एक जंगली सुअरों का काफीला मूल समिपस्थ चिचोली गांव के पास पटरी पार कर रहा था. उसी समय एक मालगाडी पटरी से गुजर रही थी. देखते ही देखते मालगाडी ने 12 जंगली सुअरो को रौंद डाला. रेलवे पटरी पर कुछट्ठकुछ दुरी पर सुअरों के अलगट्ठअलग तुकडे बिखरे पडे हुए थे. घटना जानकारी चिचोली गांव व मुल के नागरिकों को पता चलने पर नागरिकों की भीड जुटी. जानकारी वनविभाग अधिकारी व कर्मचारीयों को मिलने पर घटनास्थल पहुचे कर्मचारीयों ने पंचनामा किया. परिसर में ही एक गड्डा खुदाई कर उसमे उन्हे गाड दिया. इस समय मूल के क्षेत्र सहायक खनके, वन कर्मचारी मरसकोल्हे, वन्य जीव अभ्यासक उमेश सिंह झिरे आदि उपस्थित थे. इसके पहले भी केलझर मार्ग पर रेलवे लाईन पर ट्रेन ने बाघिन व उसके शावकों को तो भालुओं को रौंदने की घटना हुई है.