3 days on Mahavitaran Lineman Group Holiday

वरोरा. बरसात के दिनों में शार्टसर्किट से की वजह से दुर्घटना होने की संभावना अधिक रहती है. इसलिए नागरिकों से सावधानी बरतने तथा सार्वजनिक, घरेलू बिजली उपकरणों के प्रयोग करते समय सावधानी बरतने की अपील महावितरण ने की है.

बरसात के दिनों में वज्रपात की घटनाएं बढ जाती है. तेज बरसात और आंधी की वजह से बिजली के खंभे धराशायी होकर बिजली तार जमीन पर पडे रहते है. मार्ग किनारे के फीडर, ट्रांसफार्मर के लोहे के कम्पाउंड, फ्यूज बाक्स तथा घर के गीले परिसर में बिजली का करंट उतरने की संभावना अधिक रहती है. कृषिपं के स्वीचबोर्ड आदि की ओर सावधानी बरतने से दुर्घटनाएं रोकी जा सकती है. मूसलाधार बरसात और आंधी की वजह से पेड की टहनिया बिजली की तारों पर गिर जाती है. जिससे बिजली के खंभे झुक जाते है. बिजली की तार टूटने की घटनाएं बढ जाती है. ऐसे झूलने वाले तारों से नागरिकों को सावधानी बरतनी चाहिए. झूलने वाले तारों को हाथ लगाने अथवा उसे हटाने का प्रयास न करें. बाढ अथवा अतिवृष्टि की वजह से प्रतिकूल परस्थितिि नर्मिाण होती है. ऐसे समय पर सावधानी बरतते हुए ट्रांसफार्मर और बिजली आपूर्ति बंद करें. ऐसे समय पर संभावित खतरा टालने के लिए नागरिकों को महावितरण ने सहयोग की अपील की है.

ग्रामीण परिसर में देखा गया है कि किसान अपने मवेशियों को खूंटे की बजाय बिजली के खंभे से बांध देते है. किंतु बरसात के दिनों में किसानों को ऐसा नहीं करना चाहिए. खंभे से टिकाकर वाहन न खडा करें, बिजली के खंभे से तार को बांधकर उसमें कपडे सूखाने न डाले. अन्यथा दुर्घटना की संभावना रहती है.