हिंसक प्राणियों के बढते हमलों से ग्रामीणों में गहरा रोष

  • सप्ताह भर में दो लोगों का शिकार
  • ग्रामीणों ने किया वनविभाग का घेराव
  • पालकमंत्री भी पहुंचे ग्रामीणों के पास

ब्रम्हपुरी. हिंसक वन्यप्राणियों और मानव संघर्ष के लिए पूरे जिले में प्रसिध्द ब्रम्हपुरी तहसील में एक बार फिर लगातार हो रही लोगों की मौतों ने ग्रामीणों में रोष निर्माण कर दिया है. यहां जहां एक ओर ग्रामीणों ने पूर्व विधायक प्रा. अतुल देशकर के नेतृत्व में वनविभाग का घेराव किया वहीं पालकमंत्री विजय वडेट्टीवार ने प्रभावित ग्राम पहुंचकर मृतकों के परिजनों से मिले और उन्हें सात्वंना दी.वन्यजीवों के लगातार हो रहे हमलों के कारण ग्रामीण इतने डरे सहमे है कि उनकी रबी की तैयारी पूरी तरह से प्रभावित हो रही है. कोरोना के डर से उनकी खरीफ फसल को पूरी तरह से चौपट कर दिया अब रबी पर हिंसक प्राणियों के हमलों का असर छाया हुआ है.ग्रामीण वनविभाग से वन्यप्राणियों का पुख्ता बंदोबस्त करने की मांग कररहे है.

उल्लेखनीय है कि ब्रम्हपुरी तहसील के चिंचगांव _डोर्ली परिसर में इन दिनों तेंदूए की दहशत छायी हुई है. पिछले 7  दिनों में तेंदूए के हमले में दो लोगों ने अपनी जान गंवाई. लोगों में इतना डर है कि शाम होते ही वें अपने घरों मे दुबक जा रहे है. 

पालकमंत्री वडेट्टीवार ने लिया जायजा

जिले के पालकमंत्री विजय वडेट्टीवार ने आज बुधवार को चिचगांव एवं डोर्ली में तेंदूए के हमले से मृत लोगों के घर पहुंचकर मृतकों के परिजनों को सात्वनां दी. डोर्ली ग्राम निवासी ताराबाई विश्वनाथ खरकाटे को 3 दिसंबर को तेंदूए ने जबकि 7दिसंबर को चिंचगांव की सायंत्राबाई श्रीराम ठेंगरी को तेंदूए ने अपना शिकार बनाया. पालकमंत्री वडेट्टीवार ने दोनों मृतकों के परिजनों से मिलकर उन्हें सात्वंना देकर पूछताछ की. उन्होने यहां ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि वनविभाग तेंदूए और बाघों के बढते हमलों को रोकने के लिए कारगर उपाययोजना करेंगा.

इस समय पालकमंत्री के ब्रम्हपुरी तहसील अध्यक्ष प्रभाकर सेलोकर, शहर अध्यक्ष बालू राऊत, जि.प. सदस्य राजेश कांबले, जि.प. सदस्य प्रमोद चिमूरकर, नगर पालिका के बांधकाम सभापति विलास विखार, पं.स. सदस्य थानेश्वर कायरकर, डीएफओ दीपेश मल्होत्रा, ब्रम्हपुरी एससीएफ भोंगडे, उपविभागीय अधिकारी सचिन भसके, उत्तर वनपरिक्षेत्र अधिकारी पूनम ब्राम्हणे, ठिकरे पाटिल एवं गांव के नागरिक आदि उपस्थित थे.

इससे पूर्व ग्रामीणों ने किया था वनविभाग का घेराव

लगातार हो रहे हिंसक वन्यप्राणियों के हमले को देखते हुए ग्रामीणों को इससे मुक्ति दिलाने की मांग को लेकर पूर्व विधायक प्रा.अतुल देशकर के नेतृत्व् में ग्रामीणों ने वनविभाग कार्यालय पहुंचकर वनधिकारियों से तेंदूए को पिंजरे में कैद करने की मांग की. इस संबंध में ब्रम्हपुरी के वनाधिकारी मल्होत्रा को एक निवेदन सौपा गया. 

इस अवसर पर पूर्व विधायक प्रा. अतुल देशकर, भाजपा जिला महामंत्री एवं जि.प. सदस्य क्रिष्णा सहारे, पंचायत समिति सभापति प्रा. रामलाल दोनाडकर, भाजपा जिला उपाध्यक्ष डा. गोकुल बालपांडे, जिला सचिव माणिक पाटिल थेरकर, जिला सचिव तथा जि.प. सदस्य दीपाली मेश्राम, पं.स. सदस्य नीलकंठ मानापुरे, भाजपा ब्रम्हपुरी शहर कोषाध्यक्ष अरविंद नंदूरकर, पूर्व पं.स. सभापति रविंद्र मेश्राम, भाजयुमो शहर अध्यक्ष प्रा. सुयोग बालबुधे, महामंत्री रितेश दशमवार, स्वप्नील अलगदेवे, उपाध्यक्ष पवन जयस्वाल, ललित उरकुडे, अक्षय चहांदे, लोमेश मेश्राम, विलास वाकुडकर, रेवनाथ ठाकरे, पुरूषोत्तम ठाकरे सहित भाजपा पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे.