ग्रामीणों ने गड्ढों में बेशरम लगाकर किया अनूठा आंदोलन

  • एपीआई को सौंपा निवेदन

शंकरपुर. आम्बोली-असोला मार्ग पर सडकों की दयनीय हालत बनी है। सडकों पर बडे-बडे गड्डे होने से किसान तथा खेतिहर मजदुरों को कई दिक्कतों का सामना करना पड रहा है। तो कई बार सडक हादसे हो रहे है। कई बार प्रशासन को निवेदन सौंपने के बावजूद सडकों की मरम्मत ने किए जाने पर आज शनिवार को ग्रामवासियों ने सम्यक विद्यार्थी आंदोलन के नेतृत्व में गड्डों में बेशरम के पौधे लगाकर अनूठा आंदोलन किया। 

आम्बोली-असोला मार्ग पर आम्बोली, चिंचाला, लावारी, बोरगांव, वाकर्ला के लोगों का आवागमन  लगा रहता है। मार्ग के मरम्मतके लिए लोकनिर्माण विभाग चिमूर में कई बार निवेदन के माध्यम से शिकायत की। परंतु प्रशासन की ओर से अनदेखी करने से यह आंदोलन किया गया. तत्पश्चात  शंकरपुर पुलिस दुरक्षेत्र के एपीआई के माध्यम से चंद्रपुर लोकनिर्माण विभाग व चिमूर लोकनिर्माण विभाग के अधिकारियों को निवेदन सौंपा।

सोशल डिस्टन्सिंग व मास्क का उपयोग कर यह आंदोलन किया गया। आंदोलन में सम्यक विद्यार्थी आंदोलन चिमूर के तहसील अध्यक्ष शुभम मंडपे, परिसर के किसान, सुरेश गरमडे, कांशीराम चौरे, मधुकर नागपुरे, मुरलीधर चुनारकर, सुधाकर राऊत, नंदु ठाकरे, पंकज चन्ने, निकेश खंडसंग, विजय माथने, प्रमोद भसारकर, राकेश गायकवाड, संजय लाकडे, भोजराज गायकवाड, वसंता चौरे आदि उपस्थित थे।