बदलते मौसम से बढा वायरल फीवर- सर्दी, बुखार के मरीजों की बढोत्तरी

    चंद्रपुर: पिछले तीन से चार दिनों से वातावरण में हो रहे बदलाव के चलते चंद्रपुर शहर सहित जिले में सर्दी, बुखार, खांसी एवं वायरल फीवर पीड़ितों की संख्या में वृध्दि देखने में आयी है. चंद्रपुर के आसपास के जिलो में कोरोना का प्रभाव जिस तेजी से बढ रहा है उससे यहां सर्दी, खांसी, बुखार पीड़ितों की चिंता और बढ गई है. हलका बुखार आने पर भी मरीज तुरंत अपने घर के पास निजी क्लिनिक पहुंचकर उपचार करा रहे है.

    जिले में पिछले तीन दिनों से आंधी तूफान के साथ बारिश के कारण मौसम में अचानक बदलाव आने के साथ शीतलहरों ने लोगों के स्वास्थ्य पर इसका असर किया है. इसके अलावा बेमौसम बारिश में भीगने की वजह से भी सर्दी, खांसी और बुखार के लक्षण देखने को मिल रहे है.

    मौसम में अचानक आये बदलाव का असर सामान्य नागरिकों में तुरंत नजर आने लगाती है. जिन व्यक्तियों की प्राणशक्ति कम होती है उन्हें वायरल फीवर पहले जकड लेता है. बदलते मौसम को देखते हुए हलका भी बुखार आने पर चिकित्सालय जाकर डॉक्टरों की सलाह से उपचार कराने की सलाह स्वास्थ्य विभाग द्वारा आम जनता को दी जारही है.

    बदलते मौसम में जंक फूट, फास्टफूड, ,खुले में रखा हुआ खाद्य पदार्थ, अत्याधिक तैलीय पदार्थ खाने से बचना चाहिए, पानी भी उबालकर पीने कीसलाह दी जाती है. साथ ही घर के आसपास का परिसर साफ और स्वच्छ रखने मच्छरों की उत्पत्ति ना हो इसका पूरा ध्यान रखने की भी सलाह दी जाती है. 

    वायरल फीवर का प्रमाण अधिक: डा. राठोड

    जिला सामान्य अस्पताल के जिला शल्य चिकित्सक डा. निवृत्ति राठोड का कहना है कि वातावरण में बदलाव आने से वायरल फीवर के मामलों में इजाफा हुआ है. इसलिए लोगों को बिना कारण भीड़ वाले स्थानों पर जाने से बचना चाहिए, कोरोना महामारी के फिर से जोर पकडने के चलते मास्क उपयोग करने, सैनटाईजर का इस्तेमाल करने, और सोशल डिस्टसिंग बनाये रखने साथ ही सुदृढ स्वास्थ्य के लिए व्यक्तिगत स्वच्छता रखने की आवश्यकता है.