गहलोत के बाद छत्तीसगढ़ सरकार के मंत्री ने बलात्कार में बताया फर्क, कहा- बलरामपुर बलात्कार एक छोटी सी घटना

रायपुर: हाथरस (Hathras Case) में हुई घटना को लेकर पूरे देश में आक्रोश का माहौल है. कांग्रेस जहां योगी सरकार पर हमलावर हैं. वहीं उसके शासित प्रदेश के मंत्री और मुख्यमंत्री बलात्कार को फर्क बता रहें हैं. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gahlot) के बाद छत्तीसगढ़ सरकार (Chhattisgarh Government) में मंत्री शिव दहरिया (Shiv Dahariya) ने बलात्कार को छोटी सी घटना कहा है. 

दरअसल, छत्तीसगढ़ के बलरामपुर में एक बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया. जिसको लेकर पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह (Raman Singh) ने ट्वीट कर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी (Priyanka Gandhi Vadra) और राहुल गाँधी (Rahul Gandhi) पर हमला बोला था. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, “छग के बलरामपुर में नाबालिक के साथ हैवानों ने दरिंदगी की लेकिन कांग्रेस सरकार न्याय दिलाने की जगह मामले को दबाने में लग गई राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी वाड्रा  में यदि संवेदनाएं हों तो इस बेटी को भी न्याय दिलाने छग आएं?मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से जवाब मांगें? प्रदेश की बेटी को कब मिलेगा न्याय?.”

जिसपर पलटवार करते हुए मंत्री शिव दहरिया ने कहा, “हाथरस में इतना बड़ा हादसा हो गया, वो उसके लिए ट्वीट क्यों नहीं कर रहे हैं?: उन्होंने आगे कहा कि,” एक छोटी सी घटना छत्तीसगढ़ के बलरामपुर में हुई है और रमन सिंह उस पर सरकार की आलोचना करने के अलावा और कुछ नहीं कर रहे हैं.”

भाजपा ने मंत्री के इस्तीफ़े की मांग 
बलरामपुर मामले को एक छोटी सी घटना बताने के बाद विपक्ष सरकार और कांग्रेस पर हमलावर हो गया है. भाजपा ने मंत्री के इस्तीफ़े की मांग करने लगी है. भाजपा नेता रमन सिंह ने ट्वीट करते हुआ कहा, “छत्तीसगढ़ कांग्रेस की विकृत मानसिकता देखिए! इन्हें छत्तीसगढ़ की बेटियों के साथ दरिंदगी की घटनाएं छोटी लगती है। राहुल गाँधी जी बताएं क्या छत्तीसगढ़ में घट रही दुष्कर्म की घटनाएं आपके लिए भी छोटी हैं? ऐसी घटिया सोच वाले मंत्री को आप आज हटाएंगे या कल? आखिर कब होगा न्याय?.”

विवाद बढ़ने  पर दिया सफाई 
मामले अपर विवाद बढ़ने पर सफाई देते हुए मंत्री ने कहा, “मैंने बलात्कार की घटना को छोटी घटना नहीं कहा था. बलात्कार हमेशा एक बड़ी घटना है. मैंने बलात्कार के बाद हुई घटनाओं की श्रृंखला पर अपनी राय व्यक्त की थी। मेरी राय बलात्कार पर नहीं थी.”