रात में प्रेमिका संग धान के खेत में था प्रेमी, देखने वाले शख्स की हत्या, 10 साल बाद ऐसे सुलझी कत्ल की गुत्थी

    रायपुर. छत्तीसगढ़ में पुलिस (Chhattisgarh Police) ने दस साल पुराने हत्या के एक मामले को सुलझा लिया है और इस मामले का खुलासा (Murder Case) तब हुआ जब एक आरोपी ने बातों ही बातों में अपने एक दोस्त को बताया कि उसने 2011 में रायपुर में एक व्यक्ति की हत्या की थी। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) तारकेश्वर पटेल ने रविवार को बताया कि सूचना मिलने के बाद पुलिस ने शुक्रवार को मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया, जिनकी पहचान संतोष यादव (Santosh Yadav) उर्फ घनश्याम (30) और उसके साथी लोकेश यादव (32) (Lokesh Yadav) के रूप में की गई है। उन्होंने बताया कि जिले के फरहादा गांव में जनवरी 2011 में रायपुर के कोसरंगी गांव निवासी लेखराम सेन (40) की हत्या कर दी गई थी।

    दोस्त को बातों ही बातों में बता दी हत्या की बात

    संतोष यादव ने फरहादा गांव में एक ‘ढाबे’ पर अपने दोस्त को बातों ही बातों में बताया कि उसने 2011 में सेन की हत्या की थी। उन्होंने बताया कि इसके बाद पुलिस को इसकी भनक लग गयी और उन्होंने कुछ दिनों पहले उससे पूछताछ की थी। अधिकारी ने बताया कि पूछताछ के दौरान संतोष यादव ने पुलिस को बताया कि उसने लोकेश यादव की मदद से जनवरी 2011 में सेन की गला घोटकर हत्या कर दी थी और शव को फरहादा गांव के धान के एक खेत में फेंक दिया था।

    हत्या कर शव को धान के खेत में फेंका 

    उन्होंने बताया, ‘‘पुलिस को दिए अपने बयान में संतोष ने बताया कि 2011 में वह अपने मामा के घर गया था और उसकी एक लड़की से दोस्ती हो गयी थी। गांव में देर रात धान के खेत में अपनी प्रेमिका से मुलाकात करते वक्त वहां से गुजर रहे सेन ने दोनों को देख लिया और उन्हें उनके रिश्ते के बारे में गांववालों को बताने की धमकी दी। बाद में संतोष ने लोकेश की मदद से सेन की उसकी बेल्ट से कथित तौर पर गला घोटकर हत्या कर दी।”