छत्तीसगढ़ सरकार ने छह अगस्त तक लॉकडाउन बढ़ाया

रायपुर. छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए राजधानी रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग समेत अन्य शहरी इलाकों में लॉकडाउन छह अगस्त तक बढ़ाने का फैसला किया है। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने सोमवार को यहां बताया कि राज्य में कोरोना संक्रमण की रोकथाम और बचाव के लिए ‘हॉटस्पॉट’ क्षेत्रों में लॉकडाउन की अवधि को अब छह अगस्त तक के लिए बढ़ाने का निर्णय लिया गया है।

जिलों में कोरोना संक्रमण वाले इलाकों की स्थिति को ध्यान में रखते हुए जिलाधिकारी स्थानीय स्तर पर लॉकडाउन के संबंध में निर्णय लेंगे। अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में उनके निवास कार्यालय में उच्च स्तरीय बैठक में राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थिति पर गहन विचार विमर्श के बाद यह निर्णय लिया गया।

इस अवसर पर मंत्रिपरिषद के सदस्य भी उपस्थित थे। बैठक में लिए गए निर्णयों की जानकारी देते हुए राज्य के कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने बताया कि रायपुर, दुर्ग और बिलासपुर जैसे बड़े शहरों में जहां कारोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है, उसकी रोकथाम को ध्यान में रखते हुए सरकार ने लॉकडाउन की अवधि को 28 जुलाई से बढ़ाकर छह अगस्त तक करने का निर्णय लिया है। जिन इलाकों में संक्रमण की स्थिति अधिक है वहां लॉकडाउन के नियमों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं।

चौबे ने बताया कि उच्च स्तरीय बैठक में स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को राज्य में कोरोना संक्रमण की रोकथाम और उपचार के लिए स्वास्थ्य सेवाओं को और अधिक प्रभावी बनाने के साथ ही अस्पतालों में कोविड-19 के इलाज के लिए बिस्तरों की संख्या बढ़ाने, लैब तकनीशियन, एएनएम तथा स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की पूर्ति जिला खनिज निधि न्यास मद से करने का निर्देश जिलाधिकारियों को दिया गया है।

मंत्री ने बताया कि उच्च स्तरीय बैठक में राज्य में खरीफ फसलों की स्थिति पर भी विस्तार से चर्चा की गई। खरीफ फसलों की सिंचाई के लिए आवश्यकता और जलाशयों में पानी उपलब्धता को देखते हुए 28 जुलाई से ही जलाशयों से पानी छोड़ने का भी निर्णय लिया गया। छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हुई है।

राज्य में रविवार तक कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या बढ़कर 7613 हो गई थी। इनमें में 2626 लोगों का इलाज किया जा रहा है वहीं 4944 लोगों को स्वस्थ होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है। राज्य में इस वायरस से संक्रमित 43 लोगों की मौत हुई है। राज्य में पिछले एक महीने के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के पांच हजार से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं। राज्य का रायपुर जिला सबसे अधिक प्रभावित है। जिले में इस वायरस के संक्रमण के 2187 मामले दर्ज किए गए हैं।

रायपुर में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए जिला प्रशासन ने रायपुर और बिरगांव नगर निगम क्षेत्र में इस महीने की 22 तारीख से 28 तारीख तक लॉकडाउन करने का फैसला किया था। वहीं राज्य के बिलासपुर, कोरबा, अंबिकापुर, दुर्ग, मुंगेली, बेमेतरा और राजनांदगांव शहरों में अलग-अलग समय के लिए लॉकडाउन लागू करने का फैसला किया गया है। (एजेंसी)