naxal

दंतेवाड़ा. छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में नक्सलियों ने दो युवकों की हत्या कर दी है तथा पांच लोगों को पीट-पीट कर घायल कर दिया है। दंतेवाड़ा जिले के पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव ने बताया कि जिले के हिरोली और डोकापार गांव के मध्य जंगल में नक्सलियों ने दो युवकों अशोक कुंजाम और बंदरा कुंजाम की हत्या कर दी है। दोनों की उम्र 20 वर्ष के आसपास बताई गई है। पल्लव ने बताया कि जिले के किरंदुल क्षेत्र के निवासी अशोक और उसके परिवार के पांच सदस्य अपने मित्र के साथ शादी पक्की करने पड़ोसी बीजापुर के दौड़ी कुमनार गांव गए थे। उन्होंने बताया कि आशोक और सभी लोग किरंदुल से जंगल के रास्ते से लगभग 30 किलोमीटर पैदल चलकर बुधवार की रात दौड़ी कुमनार गांव पहुंचे थे।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि गांव में शादी पक्की करने के बाद जब वह बृहस्पतिवार को वापस लौट रहे थे तब हिरोली और डोकापारा गांव के मध्य जंगल में उनका सामना नक्सलियों से हो गया। इस दौरान नक्सलियों ने उन्हें पुलिस का मुखबिर समझा और उनकी पिटाई शुरू कर दी। पल्लव ने बताया कि इस घटना में दो युवकों की मौत हो गई तथा अन्य घायल हो गए। पुलिस अधिकारी ने बताया कि ग्रमीणों ने दोनों युवकों के शवों को किरंदुल पहुंचाया और इसकी सूचना पुलिस को दी। उन्होंने बताया कि पुलिस ने घटनास्थल से नक्सलियों का एक पर्चा भी बरामद किया है। जिसमें माओवादियों के गंगालूर एरिया कमेटी ने आरोप लगाया है कि दोनों युवक पुलिस के मुखबिर थे। माओवादियों ने पर्चे में कहा है कि इस घटना के लिए दंतेवाड़ा के पुलिस अधीक्षक जिम्मेदार हैं। माओवादियों के इस आरोप को लेकर पल्लव ने कहा कि दोनों मृतकों का पुलिस से कोई संबंध नहीं था। उन्होंने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है तथा हमलावर नक्सलियों की खोज में पुलिस दल रवाना कर दिया गया है।