A case of rape and abortion registered on the pretext of marriage

कवर्धा (छत्तीसगढ़): छत्तीसगढ़ (Chhattisgdh) के कबीरधाम (Kabirdham) जिले में चार अज्ञात लोगों ने 14 वर्षीय आदिवासी बालिका से कथित रूप से सामूहिक बलात्कार किया। कबीरधाम जिले के पुलिस अधीक्षक शलभ सिन्हा (Sulabh Sinha) ने सोमवार को बताया कि जिले के सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र में बालिका से कथित बलात्कार के मामले में पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

सिन्हा ने बताया कि बालिका ने पुलिस में शिकायत की कि बीते रविवार को जब वह अपने एक मित्र के साथ सैर पर गई थी, तब चार आरोपियों ने उन्हें घेर लिया। इस दौरान उन्होंने बालिका के मित्र को धमकाकर वहां से भगा दिया। बालिका ने पुलिस को बताया कि चारों आरोपी उसे किसी सुनसान स्थान पर ले गए और उसके साथ कथित रूप से बलात्कार किया। घटना को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी वहां से फरार हो गए।

सिन्हा ने बताया कि बालिका ने जब मदद के लिए आवाज लगाई, तब कुछ स्थानीय लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। बाद में गश्त पर निकला पुलिस दल घटनास्थल पहुंचा और बालिका को वहां से निकाला गया। सिन्हा ने बताया कि बालिका की शिकायत पर सिटी कोतवाली थाने में अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है और कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

इधर राज्य के मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) ने राज्य सरकार पर अपराध पर अंकुश लगा पाने में विफल होने का आरोप लगाया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय (Vishnu Dev say) ने कहा है कि राज्य सरकार अपराध पर अंकुश लगा पाने में विफल रही है और राज्य की जनता असुरक्षित महसूस कर रही हैं।

साय ने कहा है कि कवर्धा में नाबालिग आदिवासी बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना स्तब्ध करने वाली है। इस मामले के आरोपी अभी तक फरार हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने इस मामले में कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।