Stone pelting on ambulance and police team arrested in Uttar Pradesh

रायपुर.  छत्तीसगढ़ में नक्सलियों को सामान मुहैया कराने और उनका सहयोग करने के मामले में पुलिस ने बिलासपुर जिले में एक सड़क निर्माण करने वाले ठेकेदार :मालिक: को गिरफ्तार कर लिया है। बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी ने गुरूवार को बताया कि नक्सलियों के शहरी नेटवर्क की जांच कर रही एसआईटी ने बिलासपुर के ठेकेदार निशांत जैन को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि राज्य के कांकेर जिले की पुलिस ने नक्सलियों के शहरी नेटवर्क की जांच के लिए विशेष जांच दल बनाया है। इस दल ने अभी तक इस मामले में 12 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। सुंदरराज ने बताया कि जैन की कंपनी को नक्सल प्रभावित कांकेर जिले में सड़क निर्माण का ठेका मिला है। इस दौरान वह कथित रूप से अपने लोगों के माध्यम से नक्सलियों को राशन, स्टेशनरी, जूते, कपड़े, नगद और वाकी टाकी समेत अन्य सामान मुहैया कराता था। सुंदरराज ने बताया कि इस वर्ष 24 मार्च को पुलिस ने कांकेर जिले के सिकसोड़ थाना क्षेत्र से ठेकेदार तापस पालित को गिरफ्तार कर लिया था।

पुलिस ने उसके वाहन से नक्सलियों के लिए भारी मात्रा में सामान बरामद किया था। उन्होंने बताया कि तापस ने पूछताछ के दौरान बताया था कि वह और उनके अन्य साथी नक्सलियों को पिछले दो तीन वर्षों से जरूरत का सामान मुहैया करा रहे हैं। पुलिस अधिकारी ने बताया कि बाद में कांकेर जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक किर्तन राठौर के नेतृत्व में एसआईटी ने राजनांदगांव के ठेकेदार अजय जैन और कोमल प्रसाद वर्मा समेत 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस महानिरीक्षक ने बताया कि बिलासपुर के निशांत जैन और राजनांदगांव के वरूण जैन की कंपनी को कांकेर जिले में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत अंतागढ़, आमाबेड़ा और अन्य अंदरूनी क्षेत्रों में सड़क निर्माण का कार्य मिला है। दोनों कंपनियों ने क्षेत्र में निर्माण कार्य के लिए अजय, कोमल और तापस को अधिकृत किया है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि तीनों निशांत के कहने पर नक्सलियों को सामान मुहैया कराने का काम करते थे और बदले में क्षेत्र में नक्सली वरूण और निशांत की कंपनी को आसानी से काम करने देते थे। उन्होंने बताया कि इस मामले में निशांत के साथी वरूण की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। इस मामले में अन्य लोगों के भी शामिल होने की आशंका है। मामले की जांच की जा रही है।