अपने सपनों का घर अभी खरीदने के 5 कारण

मुंबई. कोटक महिंद्रा बैंक के प्रेसिडेंट (कंज़्यूमर असेट्स) अम्बुज चांदना का मानना है कि वर्तमान में घर खरीदी (Home buying) का एकदम सही समय है. घर खरीदने का फैसला एक इंसान की जि़ंदगी के सबसे बड़े वित्तीय फैसलों में से एक होता है और इसलिए इसे हल्के में नहीं लिया जा सकता. ऐसे कई पहलू हैं जो घर खरीदने वाले व्यक्ति को ध्यान में रखने चाहिए, जिनमें वित्तीय योजना (Financial Planing) को व्यवस्थित करना और सही सम्पत्ति खरीदना भी शामिल है.

साथ ही घर खरीदी के लिए सही समय को पहचानना भी अत्यावश्यक है, क्योंकि इससे खरीददार को कुछ खास फायदे मिल सकते हैं. कोरोना महामारी ने अर्थव्यवस्था पर बहुत बुरा असर किया है. अब देश धीरे-धीरे महामारी से उबरने की कोशिश कर रहा है. ऐसे में 5 कारण ऐसे हैं, जो बताते हैं कि यह घर खरीदने या सम्पत्ति में निवेश करने का सही समय है.

1. खरीददार के मुताबिक है बाजार

महामारी से उपजी अनिश्चितता और रोज़गार व आमदनी की हानि के चलते लोगों ने घर खरीदने की योजना को विराम दे दिया था. इस वजह से रिहाइशी रियल एस्टेट (Real Estate) में बिना बिकी इन्वेंट्री काफी जमा हो गई है. अब अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट रही है, प्रॉपर्टी डेवलपर अपनी इन्वेंट्री बेचने के लिए ज़ोर लगा रहे हैं. इसलिए वे आकर्षक स्कीमें, डिस्काउंट और आसान भुगतान योजनाएं पेश कर रहे हैं. महानगरों में कीमतें 10 से 15% तक गिर गई हैं. जिन लोगों के पास डाउन पेमेंट देने के लिए पैसा है और जिनके पास बैंक या हाउसिंग फाइनेंस कंपनी से होम लोन की मंजूरी हैं, वे मोलभाव करने के लिए बेहतर स्थिति में हैं और वे डेवलपर से और भी बेहतर डील पा सकते हैं.

2. आकर्षक ब्याज दरें

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए फरवरी 2020 से अब तक रेपो रेट (Repo Rate) में कुल 155 बेसिस पॉइंट की कटौती कर चुका है, जिसके चलते होम लोन ब्याज दरें पिछले 15 सालों में सबसे निचले स्तर (6.9%) पर आ गई हैं. यदि किसी का होम लोन (Home Loan) चल रहा है तो यह सही वक्त है कि बेहतर दरों की तलाश में अपने होम लोन को किसी दूसरे बैंक या हाउसिंग फाइनेंस कंपनी में स्विच किया जाए. निम्न आय वर्ग का परिवार प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ब्याज सब्सिडी का फायदा उठा सकता है.

3. डिजिटलीकरण से आासानी  

इस न्यू नॉर्मल दौर में बैंक डिजिटल होम लोन सुविधा प्रदान कर रहे हैं जो पूरी तरह ऑनलाइन प्रक्रिया है, जहां लोग आवेदन व दस्तावेज़ जमा करने का काम ऑनलाइन करते हैं और 48 घंटों से भी कम वक्त में उनका होम लोन स्वीकृत हो जाता है.

4. रेडी-टू-मूव-इन होम्स उपलब्ध

लोग अब निर्माणाधीन प्रॉपर्टी के बजाय रेडी-टू-मूव-इन घरों को तरजीह दे रहे हैं. इसके अलावा अब वर्क-फ्रॉम-होम के चलन बड़े घरों की आवश्यकता महसूस होने लगी है. महामारी के कारण घरों की बिक्री में कमी आने से डेवलपरों के पास विविध प्रकार की रेडी-टू-मूव-इन प्रॉपर्टी बहुत ज़्यादा इकट्ठी हो गई हैं, जिन्हें बेचने के लिए वे आतुर हैं और ग्राहक इन विकल्पों में से चयन कर सकते हैं.

5. टैक्स छूट का भी लाभ

होम लोन लेने से ग्राहकों को कुछ टैक्स (Income Tax) संबंधी लाभ भी मिलते हैं जैसे आयकर अधिनियम के अनुच्छेद 80सी के तहत आवास ऋण के मूल धन के पुनःभुगतान पर 1.50 लाख रुपए तक की छूट तथा अनुच्छेद 24 के तहत आवास ऋण के ब्याज पर 2 लाख रुपए तक की छूट. उद्योग को बढ़ावा देने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने घरों की खरीद पर स्टैम्प ड्यूटी (Stamp Duty) को अस्थायी रूप से घटा कर 5% से 2% कर दिया है, यह फैसला 31 दिसंबर तक लागू रहेगा तथा 1 जनवरी से 31 मार्च 2021 तक स्टैम्प ड्यूटी की दर 3% रहेगी.  जब भी कोई परिवार अपना खुद का घर खरीदता है तो परिवार के लिए यह बहुत ही गौरव और प्रसन्नता का क्षण होता है. इसलिए यदि लोग सावधानीपूर्वक और सोच-विचार के सही समय पर घर खरीदने का फैसला करें तो उन्हें बहुत फायदा हो सकता है.