Vi

नयी दिल्ली. दूरसंचार सेवाप्रदाता कंपनी वोडाफोन आइडिया लिमिटेड 5जी प्रौद्योगिकी के परीक्षण करने के लिए ‘बहुत उत्सुक’ है। कंपनी ने मंगलवार को कहा कि इस मुद्दे पर वह सरकारी नीति का पूरी तरह पालन करेगी।

वोडाफोन आइडिया ने मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी विशांत वोरा ने हालांकि उन वेंडर्स का नाम नहीं उजागर किया जिनके साथ कंपनी ने 5जी प्रौद्योगिकी के परीक्षण के लिए गठजोड़ किया है। लेकिन उन्होंने कहा कि कंपनी अपना आवेदन जमा करने के लिए सभी सरकारी नियमों का पालन कर रही है।

वोरा ने संवाददाताओें से कहा, “मैं मीडिया में चल रही अटकलों पर टिप्पणी नहीं कर सकता। हम अपना आवदेन जमा करने के लिए सभी सरकारी नियमों का पालन कर रहे हैं। हम सरकार के साथ मिलकर काम करना जारी रखेंगे और निश्चित तौर पर इस मुद्दे को लेकर सरकार का जो भी फैसला होगा उसका समर्थन करेंगे।”

वह एक वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। यह सम्मेलन कंपनी ने अपने ‘बिग डेटा’ मंच को तैयार करने और रखरखाव करने की जिम्मेदारी ‘आईबीएम’ को देने की घोषणा करने के लिए बुलाया था।

5जी की नीलामी से जुड़े एक प्रश्न के जवाब में वोरा ने कहा, “5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी पर फैसला सरकार को लेना है। तो देखना होगा कि सरकार की नीति हमें कहां ले जाती है। लेकिन मैं कहूंगा कि भारत के लिए यह बहुत जरूरी है कि 5जी के उपयोग को लेकर वह अपने नियम बनाए ताकि यह देश की अर्थव्यवस्था और समाज के लिए मूल्यवान योगदान दे सके।”

उन्होंने कहा कि जापान और चीन ने 5जी प्रौद्योगिकी को भविष्य की अर्थव्यवस्था का आधार माना है और स्पेक्ट्रम को लेकर वह इसी के अनुरूप अपनी नीतियां बना रहे हैं। (एजेंसी)