IT सेक्टर में नौकरियों की बहार

  • कोरोना संकट से उबरी IT इंडस्ट्री, ग्रोथ होने लगी तेज

मुंबई. कोरोना महामारी की मार झेलने के बाद अर्थव्यवस्था फिर पटरी पर आने लगी है. सदी के इस घोर संकट के कारण बड़ी संख्या में लोगों की नौकरियां प्रभावित हुई थी, परंतु अब अर्थव्यवस्था की गति बढ़ने के साथ नई नौकरियां भी निकलने लगी है. आईटी क्षेत्र (IT Industry), जो इस संकट में सबसे कम प्रभावित होने वाले उद्योग क्षेत्रों में शामिल हैं, अब नई नौकरियां देने में सबसे आगे है.

आईटी इंडस्ट्री की शीर्ष 4 कंपनियों ने सितंबर तिमाही में 17,000 से अधिक नई नौकरियां प्रदान की है और इस तिमाही में भी 14,000 से अधिक नई भर्तियां करने की योजना बनाई है.

17076 को मिली नई नौकरियां

कोविड संकट ने हर क्षेत्र में टेक्नोलॉजी (Technology) का उपयोग बढ़ा दिया है और इस कारण आईटी सेक्टर की ग्रोथ तेज हो रही है. कमाई बढ़ने के साथ आईटी कंपनियां नए आईटी इंजीनियरों की भर्ती कर रही हैं. देश की प्रमुख आईटी कंपनियों टीसीएस (TCS), इन्फोसिस (Infosys), विप्रो (Wipro) और एचसीएल टेक्नोलॉजीज (HCL Tech) ने दूसरी तिमाही (जून-सितंबर) के दौरान 17,076 नई भर्तियां की हैं. इन भर्तियों में फ्रेशर की संख्या भी काफी है. इस दौरान सबसे ज्यादा 9864 नौकरियां टाटा ग्रुप की कंपनी टीसीएस ने दी है. इसके बाद तीसरी बड़ी आईटी कंपनी विप्रो ने 3439 भर्तियां की है. जबकि चौथी बड़ी आईटी कंपनी एचसीएल ने 2798 नई भर्तियां की है. हालांकि दूसरी बड़ी कंपनी इंफोसिस ने केवल 975 ही नई नौकरियां दी है.  

पहली तिमाही में की थी छंटनी

लॉकडाउन के कारण पहली तिमाही (अप्रैल-जून 2020) के दौरान आईटी कंपनियों का कारोबार भी प्रभावित हुआ था. जिसके कारण इन्होंने छंटनी भी की थी. इस दौरान शीर्ष आईटी कंपनी टीसीएस ने 4788 कर्मचारियों की छंटनी की थी. जबकि इंफोसिस ने 3138 कर्मचारी कम किए थे, परंतु विप्रो ने सबसे कम केवल 1082 कर्मचारियों की ही कटौती की थी. हालांकि अब कारोबार बढ़ने के साथ आईटी कंपनियां तेजी से नए रोजगार देने लगी हैं.

दूसरी छमाही में होंगी 25,000 नई भर्तियां

उद्योग सूत्रों के अनुसार, प्रमुख आईटी कंपनियां और अन्य टेक्नोलॉजी कंपनियां वित्त वर्ष 2021 की दूसरी छमाही (अक्टूबर-मार्च) में बड़ी संख्या में नई भर्तियां करने की योजना बना रही है. एचसीएल सबसे अधिक 9,000 नई भर्तियां करने जा रही है. कैब सेवा प्रदाता ओला अपना नया टेक्नोल़ॉजी सेंटर पुणे में स्थापित कर रही है. जिसके लिए ओला की 1,000 इंजीनियर भर्ती करने की योजना है. ओला की प्रतिस्पर्धी उबेर भी नए इंजीनियरों की भर्तियां करेगी. इनके अलावा सभी प्रमुख आईटी कंपनियां भी नई भर्तियां कर रही हैं. इस तरह इस छमाही में आईटी सेक्टर में करीब 25,000 नई भर्तियां होंगी.

4-10% की रेंज में वेतन वृद्धि

नए रोजगार देने के साथ बड़ी आईटी कंपनियां अपने कर्मचारियों को अपने साथ जोड़े रखने और प्रोत्साहन देने के लिए वेतन वृद्धि (Salary Hike) भी कर रही हैं. 4.50 लाख से अधिक कर्मचारियों वाली टीसीएस ने एक अक्टूबर से वेतन वृद्धि लागू कर दी है. एचसीएल कुछ कर्मचारियों की अक्टूबर से और शेष की एक जनवरी से वृद्धि कर रही है. इंफोसिस और माइंडट्री (Mindtree) ने एक जनवरी से वेतन बढ़ाने की घोषणा की है. सूत्रों के मुताबिक, आईटी कंपनियां 4 से 10 प्रतिशत की रेंज में वेतन वृद्धि कर रही हैं.