टाटा समूह ले सकता है वालमार्ट में 49% व्यापारिक हिस्सेदारी

मुंबई, टाटा समूह जल्द ही अमेरिकी रिटेलर वॉलमार्ट के साथ करार के तहत थोक और खुदरा कारोबार में 49% तक हिस्सेदारी ले सकता है। ख़बरों के अनुसार दोनों समूहों में बातचीत जारी है। कहा जा रहा है की ये सौदा

मुंबई, टाटा समूह जल्द ही अमेरिकी रिटेलर वॉलमार्ट के साथ करार के तहत थोक और खुदरा कारोबार में 49% तक हिस्सेदारी ले सकता है। ख़बरों के अनुसार दोनों समूहों में बातचीत जारी है। कहा जा रहा है की ये सौदा अगर होता है तो वालमार्ट जो भारत में ‘बेस्ट प्राइस मॉडर्न होलसेल’ ब्रांड के तहत अपना कार्य कर रह है, इसके चलते टाटा ग्रुप की साख का फायदा उठा सकेगा। वॉलमार्ट को उम्मीद है की इस सौदे के चलते वह टाटा समूह के साथ संगठित होलसेल मार्केट में तेजी से विस्तार कर सकेगा। वहीं टाटा समूह को भी अपने खुदरा विस्तार योजनाओं में तेजी लाने में मदद मिलेगी। 

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की खबर के अनुसार दोनों समूह में बातचीत अंतिम दौर पर है। वहीं वॉलमार्ट इंटरनेशनल के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी, जुडिथ मैककेना ने कहा कि वे इस सौदे की घोषणा इस महीने की शुरुआत में करने वाले थे, लेकिन अभी भी अंतिम दौर की बातचीत जारी है। वैसे इस सौदे की प्रक्रिया को नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्रिब्यूनल (NCLAT) ने साइरस मिस्त्री को टाटा संस के चेयरमैन के पद पर बहाल करने के आदेश से थोड़ा फर्क तो पड़ा है। विदित हो कि नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्राइब्यूनल (NCLAT) ने हाल ही में ने टाटा सन्स के चेयरमैन पद से साइ‍रस मिस्त्री के हटाने को अवैध ठहरा दिया है और उन्हें इस पद पर फिर से बहाल करने का आदेश दिया है। आपको बता दें की रतन टाटा कैम्प और कंपनी बोर्ड ने दुर्व्यवहार का आरोप लगाकर साइरस मिस्त्री को बाहर कर दिया था। टाटा सन्स के बोर्ड ने 24 अक्टूबर, 2016 को साइरस मिस्त्री को चेयरमैन पद से हटा दिया था।इसके साथ ही उन्होंने साइरस को ग्रुप की अन्य कंपनियों से भी बाहर निकलने के लिए कहा था। जिसके बाद साइरस ने ग्रुप की 6 कंपनियों के बोर्ड से अपना इस्तीफा दिया, हालांकि इसके साथ ही उन्होंने टाटा सन्स और रतन टाटा को एनसीएलटी में घसीटा। 

इसके पहले नेशनल कंपनी लॉ ट्राइब्यूनल (NCLT) की मुंबई बेंच ने साइरस मिस्त्री को हटाने के खिलाफ दायर याचिकाओं को खारिज कर दिया था। यह याचिकाएं दो निवेश फर्मों साइरस इनवेस्टमेंट प्राइवेट लिमिटेड और स्टर्लिंग इनवेस्टमेंट कॉर्प के द्वारा दाखिल की गई थीं। वहीं बाद में मिस्त्री ने खुद NCLAT में संपर्क किया था। वह टाटा सन्स के छठे चेयरमैन थे और रतन टाटा की रिटायरमेंट की घोषणा के बाद वह साल 2012 में इसके चेयरमैन बने थे। 

वर्तमान में वॉलमार्ट देश भर में 28 बेस्ट प्राइस स्टोर्स संचालित करता है और फ्लिपकार्ट ग्रुप में बड़ी हिस्सेदारी भी रखता है, जो ऑनलाइन मार्केट ऐप फ्लिपकार्ट और मिंत्रा का अग्रणी है। वैसे इस साल की शुरुआत में कुछ मार्केट रिपोर्टों ने संकेत दिया था कि टाटा समूह ने वॉलमार्ट के साथ एक संयुक्त उद्यम की संभावना और गठजोड़ पर चर्चा की थी। वहीं टाटा समूह के साथ योजनाओं के बारे में पूछे जाने पर, वॉलमार्ट इंडिया के प्रवक्ता ने कहा, "इस पर फिलहाल हम कोई टिपण्णी नहीं कर सकते।" विदित हो किवॉलमार्ट ने 2007 में भारती एंटरप्राइजेज के साथ एक संयुक्त उद्यम में भारत ने अपना व्यवसाय शुरू किया था। वहीं दोनों कंपनियों ने 2013 में किसी कारणवश इस उद्यम को बंद कर दिया था।