फाइनल जितने के बाद मैकुलम ने कहा – डर था कि कहीं न्यूजीलैंड फिर विश्व खिताब दूर न रह जाए

    आकलैंड: विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल (WTC Final) देखते हुए पूर्व कप्तान ब्रैंडन मैकुलम (Brendon McCullum) को डर था कि न्यूजीलैंड की टीम (New Zealand Team) एक बार फिर करीब पहुंचने के बावजूद विश्व खिताब नहीं जीत पाएगी। मैकुलम की खुशी का उस समय हालांकि कोई ठिकाना नहीं रहा जब केन विलियमसन और रोस टेलर ने भारत के खिलाफ लक्ष्य हासिल करके न्यूजीलैंड को पहली विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का खिताब दिला दिया।

    न्यूजीलैंड ने साउथम्पटन में बारिश से प्रभावित मुकाबले में बुधवार को भारत को आठ विकेट से हराकर पहली डब्ल्यूटीसी गदा उठाई। मैकुलम रोमांचित हैं कि टीम ने अपना पहला विश्व खिताब पारंपरिक प्रारूप में जीता। मैकुलम ने ‘सेन रेडियो’ से कहा, ‘‘पिछले कुछ वर्षों में उनका सफर शानदार रहा है और वह सर्वोच्च सफलता का स्वाद चखने के इतने करीब पहुंचे।” उन्होंने कहा, ‘‘खेल के शीर्ष प्रारूप में ऐसा करना शानदार है। ईमानदारी से कहूं तो मैं अब भी इस अहसास से नहीं उबर पाया हूं। ”

    मैकुलम ने कहा, ‘‘रात को मुकाबला काफी करीबी थी लेकिन इसमें पिछले दो विश्व कप की याद आ रही थी जब हम करीब पहुंचे लेकिन जीत दर्ज नहीं कर पाए।” दूसरी पारी में भारत को 170 रन पर ढेर करने के बाद न्यूजीलैंड ने कप्तान विलियमसन (52) और अनुभवी रोस टेलर (47) की नाबाद पारियों की बदौलत दो विकेट खोकर 139 रन का लक्ष्य हासिल कर लिया। 

    मैकुलम ने कहा, ‘‘मौसम और बेहद मजबूत भारतीय टीम के खिलाफ यह नतीजा हासिल करना शानदार है। मुझे यकीन कि आगामी दिनों और हफ्तों यहां तक कि वर्षों तक हम इस लम्हे को देखेंगे और केन की टीम जो हासिल कर पाई है उस पर गर्व करेंगे।” मैकुलम के लिए यह जीत और भी संतोषजनक है क्योंकि यह भारत की मजबूत टीम के खिलाफ दर्ज की गई। उन्होंने कहा, ‘‘बेहद सीमित संसाधन वाले देश के लिए यह शानदार है और विश्व क्रिकेट के शक्तिशाली देश के खिलाफ सबसे बड़े मंच पर इसे हासिल करना और भी अधिक संतोषजनक है।” (एजेंसी)