एलन बॉर्डर ने अपने ही देश की टीम को लताड़ा, पिंक बॉल ने खोली पोल

– विनय कुमार

‘बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी’ (AUS-IND TEST SERIES, 2020-2021) का रण क्षेत्र तैयार हो चुका है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 4 टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मैच 17 दिसंबर से शुरू हो रहा है। और ठीक इससे पहले सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर दोनों देशों के बीच पिंक बॉल (pink ball Cricket) से 3 दिनों का प्रैक्टिस मैच खेला गया। हालांकि, ये प्रैक्टिस मैच ड्रॉ हो गया,  लेकिन टीम इंडिया के खिलाड़ियों का इस मैच में बेहतरीन प्रदर्शन था, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया की टीम (Team Australia) को नानी याद दिला दी।

इस प्रैक्टिस मैच में ऑस्ट्रेलिया के खराब प्रदर्शन पर टीम ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान और महान खिलाड़ी  इस को लेकर एलन बॉर्डर (Allan Border) ने ऑस्ट्रेलिया के प्रदर्शन की आलोचना की और शर्मनाक बताया।

टीम इंडिया के लिए दूसरे दिन 170 रन जोड़े और ऋषभ पंत (Rishabh Pant) और हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) ने बेहतरीन बल्लेबाज़ी की। ऋषभ पंत ने अंतिम ओवर में 22 रन जोड़े और दिन की आखिरी गेंद पर सेंचुरी पूरी की।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व महान कप्तान एलेन बॉर्डर (Allan Border) ने ‘FOX Cricket’ से कहा, ‘मैंने कई स्तर पर क्रिकेट देखा है।और, अंतिम सीज़न में जिस तरह का खेल देखने को मिला, उससे बेकार और ढीला प्रदर्शन कभी नहीं देखा गया। ये ऑस्ट्रेलिया-ए (Australia-A) की टीम है। लेकिन, इस टीम में वो खिलाड़ी हैं जो नेशनल क्रिकेट टीम का हिस्सा बनने की कोशिश कर रहे हैं। इस मैच में टीम ने न तो फील्डिंग अच्छी की और न ही गेंदबाजी और न ही कप्तानी। टीम ने हर क्षेत्र में शर्मनाक प्रदर्शन किया। वह बहुत ही बेकार प्रदर्शन था।”

इस प्रैक्टिस मैच (practice match) में टीम इंडिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और सिर्फ़ 194 रनों ही बना पाए। लेकिन, भारत के गेंदबाजों ने टीम इंडिया की इस मैचें वापसी कराई और ऑस्ट्रेलिया की टीम को 108 रनों के स्कोर पर रोक दिया।

तीन दिवसीय इस प्रैक्टिस मैच के दूसरी पारी में पृथ्वी शॉ को छोड़कर सभी बल्लेबाजों ने अच्छा खेल दिखाया। मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) ने 61 रन और शुबमन गिल (Shubman Gill) ने 65 रनों की बेहतरीन अर्धशतकीय पारी खेली। हनुमा विहारी (104) और ऋषभ पंत (103) सेंचुरी बनाकर नॉट आउट रहे।

भारत के खेल के सामने ऑस्ट्रेलिया-ए (Australia-A) की टीम ने भी तीसरे यानी आख़िरी दिन वापसी की। जिसमें, जैक विल्डरमुथ (Jack Wildermuth) 111 और बेन मैक्डरमॉट (Ben McDermott) ने 107 रनों की शतकीय पारियांं खेेेेली।

ऑस्ट्रेलिया-ए (Australia-A) ने 307 रन बनाए और मैच ड्रॉ (match draw) कराने में सफल रहे।