If the turn was not found, the plan was to change the speed of the ball and bowl in the 'angles' Ravindra Jadeja

    -विनय कुमार

    भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेले जाने वाले ,’वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप’ (ICC World Test Championship 2021) के फाइनल मैच में बस एक हफ्ता का समय बचा है। क्रिकेटप्रेमियों को टेस्ट क्रिकेट के इतिहास के इस ‘विश्वयुद्ध’ में जीतकर चक्रवर्ती सम्राट बनने वाले देश को देखने की बेसब्री बढ़ रही है। मैच से पहले लगातार टीम इंडिया की ‘प्लेइंग इलेवन’ को लेकर चर्चाएं हो रही हैं। ऐसे में जहां भारतीय क्रिकेट टीम के धुरंधर स्पिनर्स रविचंद्रन अश्विन (Ravichanran Ashwin) और रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) के ‘वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप’ फाइनल मैच में एक साथ खेलने के आसार नजर आ रहे हैं, तो वहीं टीम इंडिया के पूर्व स्पिनर और सिलेक्टर्स सरनदीप सिंह ने भारत के 4 सीमर्स के साथ मैदान ए जंग में पर उतरने की संभावना को खारिज नहीं किया है।

    4 सीमर्स के साथ आ सकती है टीम इंडिया

    सरनदीप सिंह (Sarandeep Singh) का मानना है कि अगर इंग्लैंड में साउथैम्पटन के रोज़ बाउल में परिस्थतियां गेंदबाजों के हक में जाती हैं, और 18 जून को आकाश में बादल हुए, तो टीम इंडिया 3 की बजाय 4 तेज गेंदबाजों के पेस अटैक के साथ न्यूजीलैंड के खिलाफ मैदान में उतर सकती है।

    न्यूज एजेंसी PTI अपनी खास बातचीत में सरनदीप सिंह ने कहा, “अगर मैच के दौरान आकाश में हुए, तो भारतीय टीम ईशांत शर्मा (Ishant Sharma), जसप्रीत बुमराह (Jaspreet Bumrah) और मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) की तिकड़ी के साथ एक अतिरिक्त तेज गेंदबाज लेकर उतर सकती है। अगर ऐसा हुआ, तो मेरा मानना है कि भारतीय टीम को मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj) की बजाय शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) को टीम में शामिल करना चाहिए।”

    शार्दुल ठाकुर को क्यों दें मौका ?

    गौरतलब है कि सरनदीप सिंह (Sarandeep Singh) भारत की उस चयनसमिति (selection committee BCCI) का सदस्य रह चुके हैं, जिसने भारतीय टीम की बेंच स्ट्रेंथ (Bench Strength Team India) को मजबूत करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उन्हें शार्दुल ठाकुर की बजाय मोहम्मद को प्लेइंग 11 के लिए चुनना थोड़ा हैरान करने वाला फैसला नजर आया। सरनदीप सिंह ने इसके पीछे की वजह बताते हुए कहा कि शार्दुल ठाकुर के पास स्विंग करने की क्षमता है, जो ऐसी खास परिस्थितियों में उनके काम आयेगी। इसके साथ ही वो निचले क्रम (lower batting order) में आकर बल्लेबाजी कर सकते हैं, जो टीम इंडिया के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

    उन्होंने कहा, “अगर आप 4 तेज गेंदबाजों (seamers) के साथ मैदान में उतरते हैं, तो आपको निचले क्रम के खिलाड़ियों से भी रन की जरूरत पड़ सकती है, जो शार्दुल आपके लिए कर सकते हैं। साउथैम्पटन (Southampton) पर गेंद स्विंग करता नजर आएगा और शार्दुल (Shardul Thakur) अच्छी स्विंग करा सकते हैं। उनके पास घरेलू क्रिकेट (domestic cricket) में खेलने का सालों का अनुभव है, और बेहद तेज क्रिकेटिंग माइंड (Cricketing mind) भी है।” 

    जडेजा क्यों हो सकते हैं टीम से बाहर

    टीम इंडिया के पूर्व सिलेक्टर सरनदीप सिंह (Sarandeep Singh) ने यह भी कहा कि अगर शार्दुल ठाकुर को टीम में चौथे सीमर (seamer) के तौर पर लिया जाता है, तो किस खिलाड़ी को टीम से बाहर बैठना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड टीम के पास बाएं हाथ के (Left Arm Batsman NZ) कई बल्लेबाज हैं, और रविचंद्रन अश्विन (Ravichanran Ashwin) का लेफ्ट हैंड बल्लेबाजों के खिलाफ रिकॉर्ड देखा जाए, तो रवींद्र जडेजा का टीम से बाहर बैठना तय नजर आता है।

    उन्होंने कहा, “अगर चौथा सीमर चुना गया, तो दुर्भाग्य से जडेजा (Ravindra Jadeja) को बाहर बैठना पड़ेगा। अश्विन (Ravichanran Ashwin) का लेफ्ट हैंड बल्लेबाजों के खिलाफ बेहतरीन रिकॉर्ड है, और कीवी टीम (Kiwi Team) में काफी बल्लेबाज बाएं हाथ के हैं।ऐसे में उन्हें ही बतौर स्पिनर (spinner) खेलना चाहिए।”

    गाबा में शार्दुल का अविस्मरणीय योगदान 

    क्रिकेटप्रेमियों के दिलो दिमाग में भारत का हालिया ऑस्ट्रेलिया दौरा आज भी ताज़ा होगा। जहां भारत ने ऑस्ट्रेलिया को बुरी तरह हराया था और भारत को ऐतिहासिक जीत दिलाई थी।गौरतलब है कि, शार्दुल ठाकुर ने वेस्ट इंडीज के खिलाफ अपने अंतरराष्ट्रीय टेस्ट करियर का आरंभ किया था। हालांकि आपको याद होगा कि उस मैच में 10 गेंद की गेंदबाजी के बाद वो चोटिल हो गये थे और उसके बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ब्रिस्बेन के गाबा के ऐतिहासिक मैदान में वापसी करते नजर दिखे। उस मैदान पर जहां ऑस्ट्रेलिया को करीब तीन दशक से किसी ने नहीं हराया था। उस मैदान पर उन्होंने बल्ले और गेंद दोनों का करिश्मा दिखाया था और ऑस्ट्रेलिया को धोबी पछाड़ हार देने में बड़ी भूमिका निभाई थी। शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) ने इस मैच में 7 विकेट (पहली पारी में 3 विकेट और दूसरी पारी में 4 विकेट) चटकाए थे। इस यादगार मैच में उनके बल्ले से जबरदस्त 67 रनों की बारिश ही हुई थी, जिसे देख ऑस्ट्रेलिया हल्का-बक्का रह गया था और भारतीय टीम 3 विकेट से इस मैच जल समूची सीरीज पर जीत का पताका लहराया था।

    आपको शायद इस बात की जानकारी हो ही, कि फिलहाल टीम इंडिया ‘इंट्रा स्क्वॉड’ मैच खेलते हुए इंग्लैंड में प्रैक्टिस कर रही है, वहीं कीवी टीम इंग्लैंड के खिलाफ 2 मैचों की टेस्ट सीरीज का अंतिम मैच एजबास्टन (Edgbaston Stadium) में खेल रही है।