बांग्लादेशी कप्तान अकबर ने बड़ी बहन की मौत के सदमे के बीच जीता वर्ल्ड कप

ढाका, बांग्लादेश ने अंडर-19 2020 वर्ल्ड कप जीत लिया है। रविवार को फाइनल में उसने भारत को 3 विकेट से हरा दिया। बांग्लादेश ने पहली बार अंडर-19 वर्ल्ड कप पर कब्जा जमाया। यह बांग्लादेश के क्रिकेट इतिहास

ढाका, बांग्लादेश ने अंडर-19 2020 वर्ल्ड कप जीत लिया है। रविवार को फाइनल में उसने भारत को 3 विकेट से हरा दिया। बांग्लादेश ने पहली बार अंडर-19 वर्ल्ड कप पर कब्जा जमाया। यह बांग्लादेश के क्रिकेट इतिहास में पहला वर्ल्ड कप का खिताब है। अकबर अली की कप्तानी वाली बांग्लादेश टीम ने  शानदार फॉर्म में चल रही भारतीय टीम को हराकर पहली बार अंडर-19 वर्ल्ड कप पर कब्जा जमाया। मैच को जीत दिलाने में कप्तान अकबर अली का सबसे अहम योगदान रहा। अकबर की  बड़ी बहन का निधन कुछ दिन पहले ही हो गया था। इसकी जानकारी अकबर को नहीं थी परंतु बाद में उनके भाई ने उन्हें ये जानकारी दे दी थी। अकबर ने बहन की मौत के सदमे के बीच  बांग्लादेश को अंडर-19 वर्ल्ड कप जिताया।
 
22 जनवरी को जुड़वां बच्चों को जन्म देते समय 18 वर्षीय अकबर की बहन की मौत हो गई थी। बांग्लादेश के प्रमुख दैनिक ‘प्रथम आलो’ की रिपोर्ट के मुताबिक खदीजा खातून के इंतकाल के बारे में अकबर को बताया नहीं गया था लेकिन बाद में उन्हें अपने भाई से इसकी जानकारी मिली। अकबर के पिता ने कहा, ‘वो अपनी बहन के सबसे करीब था। वो अकबर से बहुत प्यार करती थी।’ उन्होंने कहा, ‘हमने पहले उसे नहीं बताया। पाकिस्तान के मैच के बाद उसने फोन किया और अपने भाई से पूछा। मेरे अंदर उससे बात करने की हिम्मत नहीं थी।’
 
खदीजा ने 18 जनवरी को ग्रुप-सी में बांग्लादेश की जिम्बाब्वे पर जीत देखी थी लेकिन अपने भाई को देश का पहला विश्व कप जीतते देखने के लिए जिंदा नहीं रही। अकबर ने नॉटआउट 43 रन बनाकर टीम को जीत तक पहुंचाया। मैच के बाद बांग्लादेशी टीम के खिलाड़ियों और भारतीय टीम के खिलाड़ियों के बीच कुछ कहासुनी हो गई थी, जिस पर अकबर अली ने अफसोस जताया था।
 
मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उम्र से कहीं अधिक परिपक्वता दिखाते हुए बांग्लादेशी कप्तान अकबर ने कहा, ‘हमारे कुछ गेंदबाज भावावेश में थे और ज्यादा उत्साहित हो गए थे। मैच के बाद जो हुआ वह दुर्भाग्यपूर्ण है। मैं भारत को बधाई देना चाहूंगा।’ अकबर ने कहा, ‘यह सपना पूरा होने जैसा है। हमने पिछले दो साल में बहुत मेहनत की है और यह उसी का नतीजा है।’