bcci-emirates-cricket-board-sign-mou-hosting-agreement-to-boost-cricketing-ties

भारत में कोरोना वायरस के मामलों अगर नियंत्रण में नहीं होता है तो भारतीय टीम अपनी घरेलू श्रृंखला के लिए यूएई को दूसरा विकल्प बना सकती है।

दुबई. भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) और अमीरात क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने दोनों देशों के बीच क्रिकेट संबंधों को बढ़ावा देने के लिए शनिवार को एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किए। भारत में कोरोना वायरस के मामलों अगर नियंत्रण में नहीं होता है तो भारतीय टीम अपनी घरेलू श्रृंखला के लिए यूएई को दूसरा विकल्प बना सकती है।

बीसीसीआई (BCCI) सचिव जय शाह ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। शाह ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘ मैंने और अमीरात क्रिकेट बोर्ड के उपाध्यक्ष खालिद अल जरोनी के साथ हमारे देशों के बीच क्रिकेट संबंधों को बढ़ावा देने के लिए बीसीसीआई और ईसीबी की ओर से समझौता ज्ञापन और मेजबानी समझौते पर हस्ताक्षर किए।”

इस मौके पर शाह के साथ बीसीसीआई (BCCI) अध्यक्ष सौरव गांगुली और कोषाध्यक्ष अरूण धूमल भी मौजूद थे। इसकी हालांकि कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन समझौते का मतलब यह हो सकता है कि अगर भारत में स्थिति में सुधार नहीं होता है तो छह महीने बाद आयोजित होने वाला आईपीएल 2021 को यूएई में ही कराया जा सकता है।

बीसीसीआई (BCCI) के एक सूत्र ने पीटीआई भाषा का गोपनीयता की शर्त पर बताया, ‘‘ आने वाले दिनों में बीसीसीआई (BCCI) को दो प्रमुख टूर्नामेंटों की मेजबानी करनी है। इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू श्रृंखला के आयोजन के लिए अब भी भारत पहला विकल्प है।” उन्होंने कहा, ‘‘ मुझे लगता है कि बीसीसीआई वैकल्पिक योजना के तहत यूएई का विकल्प रखना चहता है।

भारत में अगर जनवरी (2021) तक कोविड-19 के मामलों में कमी नहीं आयी तो इसका आयोजन यहां हो सकता है। इसके अलावा आईपीएल का आगामी सत्र मार्च या अप्रैल की शुरुआत में शुरू होगा।” भारत को कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण 13वें इंडियन प्रीमियर लीग का आयोजन यूएई में के तीन स्थलों दुबई, अबुधाबी और शारजाह में हो रहा है। (एजेंसी)