ind vs Eng bcci-likely-to-allow-50-percent-crowd-attendance-for-england-tests

-विनय कुमार

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) खिलाड़ियों की फिटनेस को लेकर और सख्त कदम उठाने जा रहा है। लेकिन, इसमें कोई ग़लत बात भी नहीं है, क्योंकि बीसीसीआई नए फिटनेस टेस्ट से टीम और बेहतरीन बनेगी। ‘The Indian Express’ के अनुसार, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में बढ़ती फिजिकल डिमांड्स के मद्देनजर बीसीसीआई (BCCI) ने शीर्ष खिलाड़ियों के लिए अपने ट्रेनिंग सेशंस में स्पीड और क्षमता के स्तर को मापने के लिए 2 किलोमीटर की दौड़ अनिवार्य कर दी है।

फिटनेस से जुड़े इस नए नियम से अब बीसीसीआई के ऑन कॉन्ट्रैक्ट खिलाड़ियों और टीम इंडिया में जगह पाने के काबिल युवाओं के लिए, यो-यो टेस्ट (YOYO Test) के अलावा इस टेस्ट से भी गुजरना पड़ेगा, और पास होने वाले खिलाड़ियों का ही टीम में चयन होगा। बीसीसीआई एक ऑफिशल ने बताया, ‘”बोर्ड ने माना है कि मौजूदा फिटनेस मानक ने हमारी फिटनेस को अगले स्तर तक पहुंचाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाई है। अब हमारे फिटनेस लेवल को दूसरे स्तर पर ले जाना आवश्यक है। टाइम ट्रायल टेस्ट (Time Trial Exercise) हमें बेहतर प्रतिस्पर्धा करने में मदद करेगा। बोर्ड हर साल अपने मानकों को अपडेट करता रहेगा।”

BCCI के नए मानकों के अनुसार, भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाजों को ‘टाइम ट्रायल टेस्ट’ (Time Trial Test BCCI) पास करने के लिए 2 किलोमीटर की दूरी 8 मिनट 15 सेकंड में पूरी करनी होगी वहीं बल्लेबाजों, विकटकीपर्स और स्पिनर्स को यही दूरी 8 मिनट 30 सेकंड में पूरी करनी होगी। YO-YO टेस्ट पास करने का मानक पहले से ही खिलाड़ियों की फिटनेस तय करने का एक मानक था। YO-YO टेस्ट पास करने के लिए सभी खिलाड़ियों को 17.1 पॉइंट्स स्कोर करना ही होगा। एलीट एथलीट्स से लगभग 6 मिनट, जबकि एमेच्योर एथलीट्स से 15 मिनट में 2 किमी की दूरी तय करने की अपेक्षा की जाती है।

‘Time Trial Test’ पर बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (BCCI President Saurav Ganguly) और सचिव जय शाह (BCCI Secretary Jai Shah) ने भी अपनी मुहर लगा दी है। खबरों के मुताबिक, बीसीसीआई ने अपने ऑन कॉन्ट्रैक्ट खिलाड़ियों को इस नए फिटनेस मार्क की जानकारी दे दी है।

बीसीसीआई का मानना है कि, इस साल इसके लिए तीन विंडो फरवरी, जून और अगस्त/सितंबर में रखे गए हैं। ऑस्ट्रेलिया से ‘बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफ़ी’ 2020-21टेस्ट सीरीज (Border-Gavaskar Trophy Test Series Australia vs India, 2020-21) में ऑस्ट्रेलिया को एक बार फिर उसिंकी ज़मीन पर हराकर ऐतिहासिक जीत के बाद भारत लौटे टीम इंडिया के खिलाड़ियों को फरवरी में होने वाले इस टेस्ट से नहीं गुजरना होगा। हां, जानकारी के मुताबिक हालांकि, लिमिटेड ओवर फॉर्मेट क्रिकेट के लिए चुने गए खिलाड़ियों को इस टेस्ट से गुजरना होगा।