Big charge on virat Kohli, wrong players supported

देश और दुनिया भर के करोड़ों क्रिकेटप्रेमी 19 सितंबर 2020 का बेताबी से इंतज़ार कर रहे हैं. आईपीएल (IPL) 2020 के आग़ाज़ होने में चंद घंटे ही बचे हैं.

देश और दुनिया भर के करोड़ों क्रिकेटप्रेमी 19 सितंबर 2020 का बेताबी से इंतज़ार कर रहे हैं. आईपीएल (IPL) 2020 के आग़ाज़ होने में चंद घंटे ही बचे हैं. सभी टीमों ने अपनी तैयारियों को और तेज़ कर दिया है ताकि वह आईपीएल (IPL) की खिताब जीतने की रेस में आखिरी दौर तक बनी रहें.

वहीं इस साल के टीम कॉम्बिनेशन और यूएई (UAE) की पिच पर पुराने रिकॉर्ड को देखते हुए कई अनुभवी और महान खिलाड़ियों का मानना है कि रॉयल चैलेंजर्स बैंंगलोर (RCB) की टीम अपना पहला खिताब जीत सकती है. लेकिन, आरसीबी (RCB) के एक्स कोच रे जेनिंग्स ने एक इंटरव्यू के दौरान आरसीबी (RCB) के पहले खिताब जीतने को लेकर आशंका जताई  है. नहीं जीत पाने कारण बताते हुए कप्तान विराट कोहली के खराब जजमेंट को रेस्पोंसिबल करार दिया है.

जेनिंग्स ने अपने समय का ज़िक्र करते हुए विराट कोहली पर आरोप लगाते हुए कहा कि जब वह टीम का नेतृत्व कर रहे थे तो विराट कोहली उनकी बात सुनने के बजाय गलत खिलाड़ियों का साथ देते थे. और, यही वजह है कि उनकी टीम अब तक एक बार भी खिताब नहीं जीत सकी है. उनका मानना है कि यही कारण  है कि आरसीबी (RCB) की टीम हर बार दावेदार होने के बावजूद ट्रॉफी जीत पाने में नाकाम रही है. ये बात दीगर है कि, भले ही विराट आईपीएल (IPL) में अब तक सफल साबित नहीं हो सके हैं लेकिन बतौर भारतीय कप्तान उन्होंने बहुत शानदार काम किया है.

जेनिंग्स के मुताबिक, विराट कोहली जब से इंडियन टीम के कप्तान बने हैं, तब से टीम इंडिया ने टेस्ट फॉर्मेट में लगभग 60 प्रतिशत मैचों में जीत हासिल की है. और विराट हमेशा अपने हिसाब से प्लान बनाते हैं और किसी और की नहीं सुनते हैं. जेनिंग्स साल 2009 से साल 2014 के बीच आरसीबी (RCB) के लिये बतौर कोच की भूमिका निभाई थी.

जेनिंग्स ने कहा, ‘ जब मैं टीम में कोच था तो उस दौरान करीब 25-30 खिलाड़ी हुआ करते थे, मेरा काम था कि सभी खिलाड़ियों पर नजर रखना. मैं अलग हालात में गेंदबाजी करने के के लिये किसी और खिलाड़ी का सुझाव देता, तो उनके पास पहले से ही अलग प्लान होता था. वह कई बार टीम में सबसे अलग होते हुए गलत खिलाड़ियों को सपोर्ट करते थे.”

लीडरशिप में आया है काफी बदलाव
आरसीबी (RCB) टीम के पूर्व कोच के मुताबिक, आखिर क्यों अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के मुकाबले आईपीएल (IPL) में टीम की कप्तानी करना ज्यादा मुश्किल है, ये गौर करने वाली बात है. जेनिंग्स ने कहा, ‘आईपीएल और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में काफी चीजें अलग होती हैं. यह ज्यादा मुश्किल है. आपके पास 6 हफ्ते का समय होता है जिसमें कुछ खिलाड़ी फॉर्म में आ सकते हैं, तो कुछ अपनी फॉर्म को गंवा भी सकते हैं.

ऐसे में आपके पास कुछ खिलाड़ी ऐसे होने चाहिए जो लगातार परफॉर्म कर सकें. जब मैं कोच था, तो मेरा मानना था कि कुछ खिलाड़ियों को थोड़े और मौके मिलने चाहिए, जबकि विराट की राय इससे अलग होती थी. हालांकि यह सब पुरानी बात हो गई है. मुझे यह देखकर काफी अच्छा लग रहा है कि वह बतौर कप्तान काफी मेच्योर हो गये हैं. बहुत जल्द वह आईपीएल (IPL) खिताबभी जीतना शुरू कर देंगें .”

आएंगे आरसीबी के अच्छे दिन :
जेनिंग्स ने अपनी इस बातचीत के दौरान विराट की तारीफ भी की और कहा कि, “उनके पास शानदार क्रिकेटिंग ब्रेन है. उन्होंने कहा, ‘ इस साल उनके पास शानदार टीम है और बिल्कुल उम्मीद है कि उनकी टीम सेमीफाइनल और फाइनल तक का सफर तय कर सकती है. मैं चाहता हूं कि आने वाले दिनों में उनकी टीम को और ज्यादा कामयाबी मिले.”

गौरतलब है कि, बतौर कप्तान विराट कोहली ने आईपीएल (IPL) में अब तक 109 पारियों में 4010 रन बनाए हैं. इस दौरान उनका औसत 44 का रहा है और 5 शतक भी उनके नाम हैं.

-विनय कुमार