century-of-centuries-on-this-day-in-2012-sachin-tendulkar-scored-his-100th-ton-in-international-cricket

खास बात यह है कि, सचिन का यह रिकॉर्ड आजतक बरकरार है।

    नयी दिल्ली. क्रिकेट के भगवान कहे  जाने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने आज ही के दिन बड़ा रिकॉर्ड बनाया था। सचिन ने साल 2012 में एशिया कप के मुकाबले में बांग्लादेश के खिलाफ खेलते यह रिकार्ड अपने नाम किया था। एशिया कप में भारत और बांग्लादेश (India vs Bangladesh) के बीच मैच था। इस मैच में सचिन अपने करियर का 100वां शतक (Century of Centuries) लगाया।

    खास बात यह है कि, सचिन का यह रिकॉर्ड आजतक बरकरार है। इसके कोई भी खिलाड़ी अब तक तोड़ नहीं पाया है। मौजूदा प्लेयर्स में विराट कोहली (Virat Kohli) इस रिकॉर्ड के थोड़े पास हैं। लेकिन, उन्हें भी सचिन का यह रिकॉर्ड तोड़ने के लिए 31 शतक लगाने की जरुरत हैं। 

    साल 2012 में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) अपने करियर का 462वां वनडे मैच खेलने उतरे थे। इस मैच में बांग्लादेश ने टॉस जीतकर गेंदबाज़ी का फैसला लिया था। भारत के खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और गौतम गंभीर क्रीज पर उतरे। लेकिन, भारत की शुरुआत थोड़ी ख़राब रही। भारत ने 25 रन पर अपना पहला विकेट खो दिया।

    गौतम गंभीर के आउट होने के बाद सचिन तेंदुलकर ने विराट कोहली और सुरेश रैना के साथ मिलकर भारत का स्कोर 250 के पार पहुंचा दिया। इसके साथ सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने अपना 100वां शतक भी पूरा किया।सचिन ने इस मैच में 147 गेंदों पर 114 रन बनाए। सचिन के शानदार शतक और कोहली, रैना के अर्धशतक की मदद से भारत ने बांग्लादेश को 290 रन का टारगेट दिया। हालांकि, सचिन का शतक भारत को यह मैच जीता नहीं सका। 

    बांग्लादेश की तरफ से तमीम इकबाल (70), जहूरूल इस्लाम (53) और नासिर हुसैन (54) ने अर्धशतक लगाए। वहीं, मैच के आखिरी ओवरों में शाकिब अल हसन ने 31 गेंद में 49 और मुशफिकुर रहीम ने 25 गेंद में 46 रन बनाकर बांग्लादेश को जीत दिलाई। इस मैच के बाद शाकिब ‘मैन ऑफ दि मैच’ रहे।

    बांग्लादेश से हारने के बाद भारत का मुकाबला पाकिस्तान से था। हालांकि, यह मैच भारत ने जीत लिया। 18 मार्च को खेला गया भारत बनाम पाकिस्तान का मैच सचिन तेंदुलकर के वनडे करियर 463वां और आखिरी मैच था। इस मैच में सचिन ने 52 रन बनाए थे। इसमें भारत ने विराट कोहली के 183 रनों की मदद से 330 रन का टारगेट चेज किया और जीत दर्ज की।