cricket

    नयी दिल्ली. जहाँ फिलहाल IPL 2021 तो कोरोना के चलते टल गया है। वही अब इसके टलने के बाद से अनेकों विदेशी खिलाड़ियों का लावा लश्कर भी भारत से निकल चुका है।  फिलहाल सभी देशों के खिलाड़ी अपने अपने घर भी पहुंच चुके हैं, सिवाए ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेटर्स, कॉमेंटेटर्स और दूसरे मेंबर के।  वह भी इसलिए क्योंकि ऑस्ट्रेलिया में कोरोना को लेकर बाहर से आने वाले लोगों के लिए फिलहाल नो एंट्री है।  फिर चाहे क्यों न कोई उनका सगा ही हो यानी अपने ही देश का नागरिक।  

    ऐसे में IPL 2021 से जुड़े सभी ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी फिलहाल बैन हटने तक मालदीव में रुकेंगे।  हालांकि, इसी बीच आ रही एक रिपोर्ट में दावा किया गया कि मालदीव के एक बार में डेविड वॉर्नर (David Warner) और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर और कॉमेंटेटर माइकल स्लेटर (Michael Slater) में जमकर हाथापाई हुई है।  इस रिपोर्ट के सुर्खियां बनने के बाद अब दोनों ने अपनी चुप्पी तोड़ी है। 

    जी हाँ अब वॉर्नर और स्लेटर दोनों ने ही देर रात मालदीव के बार में हुई झड़प से साफ़ इंकार किया है।  इतना ही उन्होंने इस रिपोर्ट को अफवाह करार दिया है।  इतना ही नहीं वॉर्नर और स्लेटर का कहना है कि वे लंबे वक्त से एक दूसरे के दोस्त हैं।  लेकिन, अब खबर ये भी उड़ रही है कि आपसी अनबन को लेकर दोनों झगड़ पड़े और इनके बीच भयानक झड़प भी हुई। 

    दरअसल मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मालदीव के ताज कोरल रिसोर्ट में वॉर्नर और स्लेटर के बीच झड़प हुई थी।  वीडिय हो कि भारत से निकलने के बाद ऑस्ट्रेलिया के सभी क्रिकेटर्स और दूसरे स्टाफ मालदीव के ताज कोरल रिसोर्ट में ही फिलहाल ठहरे हैं। बता दें कि खुद स्लेटर ने इस हफ्ते के शुरुआत में ऑस्ट्रेलियाईयों के अपने ही देश में एंट्री पर बैन लगाने की प्रधानमंत्री की नीतियों पर सवाल उठाए थे।  

    इधर अब माइकल स्लेटर ने ख़ास मीडिया चैनल्स को  मैसेज भेजकर रिपोर्ट को गलत बताया।  उन्होंने अपने भेजे मैसेज में लिखा कि, “ये बस अफवाह है।  मैं और वॉर्नर अच्छे दोस्त हैं और रहेंगे।  हमारे बीच किसी भी तरह की अनबन और झगड़े के बिलकुल जीरो चांस हैं।  ” वहीं वार्नर ने भी सफाई देते हुए कहा है कि “ऐसा कोई ड्रामा हमारे बीच बिलकुल नहीं हुआ है।  मुझे नहीं पता आप सब इतना लिखते हैं।  वो भी तब जब आप खुद यहां मौजूद नहीं हैं।  आपने कुछ देखा नहीं हैं।  हमारे बीच ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है। ”

    गौरतलब है कि वॉर्नर और स्लेटर की दोस्ती ऑस्ट्रेलिया में जगजाहिर हैं। बता दें कि स्लेटर ने प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरीसन के बैन लगाने के फैसले पर सवाल उठाए थे, जिसे प्रधानमंत्री ने बेहद भद्दा करार दिया था।  उन्होंने इस पर पलटवार करते हुए कहा कि, ऑस्ट्रेलियाई सरकार की पहली और सबसे जरुरी प्राथमिकता अपने नागरिकों की सुरक्षा करना है और इस पर कोई भी समझौता नहीं होगा।