ढाका प्रीमियर लीग में Shakib Al Hasan और Mahmudullah बदतमीजी से परेशान हुआ अंपायर, छोड़ा अपना पद

    ढाका: इस साल का ढाका प्रीमियर लीग (DPL) 2021 बेहद ही अजीबोगरीब रहा। इस बार के इस लीग में कई किस्से ऐसे रहे, जो शायद ही अपने कभी ऐसा कुछ देखा होगा। खिलाड़ियों का ऐसा रिएक्शन शायद ही किसी को पसंद आया होगा। इस बार बांग्लादेश के स्टार ऑलराउंडर शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) ने अंपायर के साथ बदतमीजी कर स्टंप ही उखाड़ दिया था, वहीं महमूदुल्लाह (Mahmudullah) ने अंपायर से झगड़ बैठे थे, क्योंकि वह उनके फैसले से नाखुश थे। ऐसी ही हरकतों की वजह से इस बार का DPL बहुत अजीब है। 

    वहीं इन सब घटनाओं के बाद ढाका प्रीमियर लीग (DPL) 2021 के अंपायर मोनिरुज्जमां (Moniruzzaman) ने अंपायरिंग छोड़ने का फैसला किया है। शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) ने जिस में मैच में ये हरकत की थी उस मुकाबले में मोनिरुज्जमां (Moniruzzaman) हिस्सा नहीं थे, लेकिन महमूदुल्लाह रियाद को जिस मैच में जुर्माना लगा था, उस मुकाबले में मोनिरुज्जमां टीवी अंपायर थे।

    महमूदुल्लाह विवाद के बाद मोनिरुज्जमां ने क्रिकबज से कहा, ‘ये सब मेरे लिए अब बहुत हो गया, मैं अब अंपायरिंग नहीं करना चाहता। मेरे भी कुछ स्वाभिमान है और मैं इसके साथ रहना चाहता हूं। अंपायर से भी गलतियां हो सकती है, लेकिन इस तरह का व्यवहार करना भी सही नहीं है। मैं अंपायरिंग सिर्फ पैसे के लिए नहीं करता हूं।’ 

    उन्होंने आगे कहा, ‘मैं शाकिब के मैच में शामिल नहीं था। लेकिन, जिस तरह से उसने व्यवहार किया वह मेरे लिए पचा पाना बहुत कठिन था। महमूदुल्लाह वाले मैच में मैं टीवी अंपायर था और इस घटना को में बेहद करीब से देख रहा था। इस घटना से में शौक रह गया, इसलिए अब मैंने अंपायरिंग नहीं करने का फैसला किया।