फर्गुसन चमके, कोलकाता नाइट राइडर्स सुपर ओवर में जीता

अबुधाबी. कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) ने रविवार को यहां लॉकी फर्गुसन के शानदार प्रदर्शन से इंडियन प्रीमियर लीग के सुपर ओवर तक पहुंचे रोमांचक मुकाबले में सनराइसर्ज हैदराबाद को शिकस्त दी। केकेआर ने कप्तान इयोन मोर्गन (34) और दिनेश कार्तिक (नाबाद 29) के बीच पांचवें विकेट के लिये 58 रन की साझेदारी से बल्लेबाजी का न्यौता मिलने के बाद पांच विकेट पर 163 रन बनाये। इसके जवाब में सनराइजर्स हैदराबाद ने 20 ओवर में छह विकेट पर 163 रन बनाये जिससे मैच सुपर ओवर में पहुंचा। सुपर ओवर में हैदराबाद के कप्तान डेविड वार्नर और अब्दुल समाद क्रीज पर थे, फर्गुसन गेंदबाजी के लिये उतरे।

फर्गुसन ने पहले ही गेंद पर वार्नर को बोल्ड किया, समाद ने अगली गेंद पर दो रन बनाये और तीसरी गेंद पर वह बोल्ड हो गये। स्कोर था दो रन पर दो विकेट। सुपर ओवर में दो विकेट ही गिर सकते हैं। अब केकेआर को जीत के लिये छह गेंद में तीन रन बनाने थे, मोर्गन और कार्तिक क्रीज पर थे।

राशिद खान की पहली गेंद पर कोई रन नहीं बना, दूसरी गेंद पर एक रन, तीसरी पर कोई रन नहीं, चौथी गेंद पर दो रन बने। केकेआर की यह नौ मैचों में पांचवीं जीत थी, जिससे उसके 10 अंक हो गये हैं और वह तालिका में चौथे स्थान पर है। सनराइजर्स हैदराबाद की यह छठी हार थी और वह छह अंक से पांचवें स्थान पर है।

न्यूजीलैंड के फर्गुसन (चार ओवर में 15 रन देकर तीन विकेट) ने केकेआर के लिये लाजवाब गेंदबाजी की जिन्होंने अपने चार में से तीन ओवर में प्रत्येक में एक एक विकेट चटकाया। सुपर ओवर में भी उन्होंने कमाल किया। लक्ष्य का पीछा करने उतरी सनराइजर्स हैदराबाद की सलामी जोड़ी ने पॉवरप्ले में पहले विकेट के लिये 58 रन जोड़ लिये थे कि अगली ही गेंद पर अपने जमे हुए बल्लेबाज केन विलियमसन (29) का विकेट गंवा दिया।

फर्गुसन की पहली ही गेंद पर को अपर कट खेलने के प्रयास में विलियमसन थर्ड मैन पर कैच दे बैठे जिन्होंने 19 गेंद में चार चौके और एक छक्का लगाया। क्षेत्ररक्षण में अच्छा करने वाले प्रियम गर्ग सात गेंद में चार रन बनाकर फर्गुसन का दूसरा शिकार बने, तब स्कोर दो विकेट पर 70 रन था। सलामी बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो (36 रन) और कप्तान वार्नर क्रीज पर थे।

स्कोर में एक भी रन नहीं जुड़ा कि बेयरस्टो (28 गेंद में सात चौके) वरूण चक्रवर्ती की गुड लेंथ गेंद पर आसान कैच देकर पवेलियन पहुंच गये। फर्गुसन ने नये बल्लेबाज मनीष पांडे (06) को बोल्ड कर अपना तीसरा शिकार बनाया।

टीम ने 14 ओवर में अपने 100 रन पूरे किये। इसी दौरान वार्नर आईपीएल में 5000 रन पूरा करने वाले पहले विदेशी खिलाड़ी बने। वह इस सूची में भारतीय कप्तान विराट कोहली (5759), सुरेश रैना (5368) और रोहित शर्मा (5149) के बाद चौथे खिलाड़ी हैं। सनराइजर्स हैदराबाद ने 15 ओवर तक चार विकेट पर 109 रन बना लिये थे, उसे 30 गेंद में 55 रन चाहिए थे। लेकिन अगले ही ओवर में विजय शंकर (07) पैट कमिंस की गेंद पर आउट हुए जिससे इस गेंदबाज ने पांच मैचों के बाद पहला विकेट लिया। समाद क्रीज पर उतरे, जिन्होंने तीसरी गेंद पर ही स्क्वायर लेग पर पारी का दूसरा छक्का जड़ दिया।

अंतिम दो ओवर में टीम को 30 रन बनाने थे और 19वें ओवर की अंतिम गेंद पर उसने समाद का विकेट गंवा दिया जिसमें 12 रन बने। छह गेंद में 18 रन चाहिए थे, जिसमें पहली नो बॉल रही और फिर तीन चौके से कुल 17 रन बने और स्कोर बराबर हो गया। इससे पहले सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल (36 रन) और राहुल त्रिपाठी (23) ने पहले विकेट के लिये 48 रन जोड़कर अच्छी शुरूआत करायी। लेकिन बीच के ओवरों में धीमी रन गति के बावजूद मोर्गन (23 गेंद में तीन चौके और एक छक्का) और कार्तिक (14 गेंद में दो चौके और दो छक्के) के बीच भागीदारी से टीम अंतिम पांच ओवर में 58 रन जोड़कर सम्मानजनक स्कोर बनाने में सफल रही। सनराइजर्स हैदराबाद के लिये टी नटराजन ने दो विकेट हासिल किये जबकि विजय शंकर, बासिल थम्पी और राशिद खान को एक एक विकेट मिला।

केकेआर के लिये त्रिपाठी और गिल ने पारी की अच्छी शुरूआत की, दोनों बड़ी पारी की ओर बढ़ रहे थे कि छठे ओवर की अंतिम गेंद पर त्रिपाठी (16 गेंद में दो चौके और एक छक्के) नटराजन की गेंद को स्वाइप करने के प्रयास में बोल्ड हो गये। हैदराबाद ने इस दौरान गिल को आउट करने का मौका गंवा दिया, वर्ना बासिल थम्पी सत्र का अपना पहला विकेट हासिल कर लेते। राशिद खान डीप स्क्वायर पर आसान कैच लेने में असफल रहे।

गिल ने इसके बाद पांचवें ओवर में थम्पी पर लगातार तीन चौके जमाये। राहुल के पवेलियन लौटने के बाद नीतिश राणा (29 रन) ने भी गिल का अच्छा साथ निभाना शुरू किया। दसवें ओवर के बाद केकेआर ने एक विकेट पर 77 रन बना लिये। लेकिन गिल का विकेट राशिद ने ही 12वें ओवर में हासिल किया, प्रियम गर्ग ने लांग ऑफ पर भागते हुए कैच लेकर उनकी 37 गेंद की पारी को समाप्त किया जिसमें पांच चौके शामिल थे।

राणा भी बड़ी पारी नहीं खेल सके और अगले ओवर में विजय शंकर की गेंद पर मिड विकेट पर कैच देकर आउट हो गये, उनका कैच भी प्रियम गर्ग ने ही लपका। इस तरह टीम को तीसरा झटका 88 रन पर लगा। केकेआर की निगाहें अब आंद्रे रसेल और इंग्लैंड के सीमित ओवर के कप्तान मोर्गन पर लगी थीं। रन गति धीमी थी और दबाव बढ़ता जा रहा था, रसेल (09 रन) ने बड़े शॉट खेलने के प्रयास में अपना विकेट गंवा दिया।

15वें ओवर में नटराजन की अंतिम गेंद पर शंकर ने मिडविकेट पर उनका कैच लपका। 15वें ओवर के बाद स्कोर चार विकेट पर 105 रन हो गया। मोर्गन और टीम के पूर्व कप्तान कार्तिक ने समझदारी से बीच बीच में शॉट लगाते हुए 30 गेंद में 58 रन जोड़े। पारी की अंतिम गेंद पर मोर्गन आउट हो गये। (एजेंसी)