Hanuma Vihari confident of contributing to team’s cause

एडीलेड में 17 दिसंबर से शुरू हो रही श्रृंखला के पहले टेस्ट मैच (दिन-रात्रि) में उनके छठे नंबर पर बल्लेबाजी करने की संभावना है।

सिडनी. भारतीय टेस्ट टीम में अपनी जगह लगभग पक्की कर चुके मध्यक्रम के बल्लेबाज हनुमा विहारी (Hanuma Vihari ) ने कहा कि खेल के पारंपरिक प्रारूप में वह अपना योगदान देने और योजनाओं को मैदान पर उतारने के लिए तैयार हैं। विहारी (Hanuma Vihari) ऑस्ट्रेलिया ए के खिलाफ दिन-रात्रि अभ्यास मैच की दूसरी पारी में नाबाद शतक लगाने के साथ अपनी कामचालऊ ऑफ स्पिन से एक विकेट लेने में भी सफल रहे। एडीलेड में 17 दिसंबर से शुरू हो रही श्रृंखला के पहले टेस्ट मैच (दिन-रात्रि) में उनके छठे नंबर पर बल्लेबाजी करने की संभावना है।

विहारी (Hanuma Vihari ) ने अभ्यास मैच के बाद कहा, ‘‘ 2018 का (ऑस्ट्रेलिया) दौरा मेरे लिए (इंग्लैंड के बाद) दूसरा विदेशी दौरा था। तब वह मेरे लिए काफी चुनौतीपूर्ण था। उस समय हालांकि मैं बहुत ज्यादा योगदान नहीं दे पाया लेकिन अब मैं अपने खेल को लेकर आश्वस्त हूं और टेस्ट श्रृंखला शुरु होने का इंतजार कर रहा हूं।” भारतीय टीम के लिए आम तौर पर छठे नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले विहारी ने अभ्यास मैचों में चौथे और पांचवें क्रम पर बल्लेबाजी की।

उन्होंने कहा, ‘‘ मैं मानता हूं कि चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करते समय आपके पास अधिक समय होता है। घरेलू मैचों में मैं तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करता हूं, ऐसे में मुझे ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी का अच्छा अनुभव है। उन्होंने कहा, ‘‘ जाहिर है, चेतेश्वर पुजारा के साथ बल्लेबाजी करना काफी अलग है। हमारे बीच अच्छी बात-चीत होती है और वह मुझे बताते है कि गेंदबाज क्या करने की कोशिश कर रहे है।” अजिंक्य रहाणे के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि मुंबई का यह बल्लेबाज खुलकर खेलना पसंद करता है।

उन्होंने कहा, ‘‘ रहाणे के साथ बल्लेबाजी करते समय मैंने देखा है कि वह खुल कर खेलना पसंद करते है और उन्हें मैच की स्थिति की अच्छी समझ है।” उन्होंने कहा, ‘‘ छठे नंबर पर बल्लेबाजी करना अलग तरह की चुनौती है। आपको विकेटकीपर हरफनमौला और गेंदबाजों के साथ बल्लेबाजी करनी होती है। मुझे दोनों स्थानों पर बल्लेबाजी करना पसंद है और यह इस बात पर निर्भर करता है कि टीम को क्या जरूरत है।”

पिछले एक महीने से ऑस्ट्रेलिया में रहने और दो अभ्यास मैच खेलने वाले विहारी ने कहा कि टीम के खिलाड़ियों को यहां की पिचों की गति और उछाल की अच्छी समझ हो गयी है और वे टेस्ट श्रृंखला के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ इस देश में उछाल की अहम भूमिका होती है। हम अभ्यास मैच में परिस्थितियों से सामांजस्य बैठाने में सफल रहे हैं। शुरुआती टेस्ट से पहले हम उछाल और गति का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।”

कामचलाऊ ऑफ स्पिन गेंदबाजी करने वाले विहारी ने कहा कि वह ‘ रणनीति के मुताबिक बेहतर गेंदबाजी करने में सक्षम है। उन्होंने कहा, ‘‘आज रहाणे ने मुझे रणनीति के तहत गेंदबाजी के लिए कहा और मुझे वैसा करने में खुशी हुई। विकेट मिलना किसी फायदे की तरह रहा। जहां तक ओवर की संख्या की बात है तो यह पूरी तरह से कप्तान पर निर्भर करता है।” वह इस बात से सहमत है कि रिद्धिमान साहा और ऋषभ पंत में से किसी एक को विकेटकीपर के रूप में चुनना सिरदर्द की तरह होगा।

उन्होंने कहा, ‘‘टीम के लिए स्वस्थ प्रतिस्पर्धा हमेशा अच्छी होती है और मुझे लगता है कि हर स्थान के लिए ऐसा ही है। यह टीम प्रबंधन पर निर्भर करता है कि वे किसका चयन करते है।” उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि वे दोनों अच्छे फॉर्म में हैं, ऐसे में यह मुश्किल फैसला और अच्छे सिरदर्द की तरह होगा।”(एजेंसी)