हरभजन ने बताया विराट के बिना कैसे हराएंगे ऑस्ट्रेलिया को ?

– विनय कुमार

टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर है। इस दौरे की शुरुआत 27 नवंबर से वनडे के साथ होगी। करीब 2 महीने के इस दौरे में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 3-3 मैचों की वनडे और टी 20 की सिरीज़ खेली जायेगी। और, 4 मैचों की प्रतिष्ठित टेस्ट सीरिज़ बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी (Border-Gavaskar Trophy) का भी सभी को इंतज़ार है। ऑस्ट्रेलिया के इस दौरे से ठीक पहले भारतीय टीम को कई मुश्किलों का सामना भी करना पड़ा है। मसलन, टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज़ रोहित शर्मा, विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा और इशांत शर्मा का इंजर्ड होना। 

अब एक और नई चुनौती, ये कि कप्तान विराट कोहली पिता बनने वाले हैं, इसलिए पहले टेस्ट मैच के तुरंत बाद वो स्वदेश लौट जाएंगे। ऐसे में बाकी के ३ टेस्ट मैच विराट कोहली के बगैर ही खेले जायेंगे। ऐसे में टीम इंडिया के पूर्व महान स्पिनर ‘टर्बनेटर’ हरभजन सिंह ने एक ऐसी बात कह दी है, जो टीम इंडिया में नया जोश भर सकता है। हरभजन सिंह ने ‘स्पोर्ट्स तक’ से हुई बातचीत में उन 2 खिलाड़ियों का नाम बताया जो रन कप्तान विराट कोहली की गैरमौजूदगी में टीम की बल्लेबाजी में नई जान फूंकने का मुद्दा रखते हैं।  

कोहली की ग़ैरमौजूदगी दूसरों के लिए सुनहरा मौका

‘टर्बनेटर’ हरभजन सिंह के मुताबिक, एडीलेड (Australia) में पहले टेस्ट मैच के बाद विराट कोहली की कमी पूरी करने से पहले टीम इंडिया (Test Team, Team India 2020) को ये भूल जाना चाहिए कि उनके कप्तान विराट कोहली स्वदेश वापस लौट रहे हैं। हां, इसमें दो राय नहीं कि, विराट के मौजूद नहीं रहने से टीम के साथ-साथ खिलाड़ियों के मनोबल पर भी असर पड़ सकता है। लेकिन, क्या इसका मतलब यह है कि विराट के वापस नहीं लौटने पर जीत की गारंटी है और हम 2 साल पहले की जीत को दोहरा नहीं सकते।

हरभजन सिंह ने कहा, “विराट कोहली का पहले टेस्ट मैच के बाद भारत वापस आना के.एल. राहुल (K.L.RAHUL) के लिए  एक बड़े मौके की तरह है, जो कि लंबे समय के बाद टेस्ट टीम में वापसी कर रहे हैं। विराट कोहली (VIRAT KOHLI) भारत के महान खिलाड़ियों में से एक हैं, जिन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रन बनाने में मजा आता है, लेकिन उनकी गैरमौजूदगी दूसरे खिलाड़ियों के लिये एक मौका बनकर सामने आएगी, जिसे उन्हें भुनाने की ज़रूरत है।”

कौन हैं वो 2 तुरूप के पत्ते 

टीम इंडिया (TEAM INDIA) के बैटिंग आर्डर और बैट्समैन को लेकर हरभजन का मानना है कि भारत के पास एक से बढ़कर एक बल्लेबाज हैं। ऐसे बल्लेबाज़, जिन्होंने वक़्त पर खुद को साबित किया है। हरभजन सिंह ने कहा कि, विराट कोहली की ग़ैरमौजूदगी में चेतेश्वर पुजारा, केएल राहुल वो दो बल्लेबाज हैं, जो टीम की बल्लेबाजी में स्थिरता लाने का काम कर सकते हैं। उन्होंने कहा, “ऐसे में विराट कोहली की गैरमौजूदगी को चेतेश्वर पुजारा और केएल राहुल के लिये एक मौके के तौर पर देखना चाहिए, जिनके पास खुद को साबित करने का मौका है। मुझे लगता है कि भारतीय टीम विराट कोहली के बिना भी ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ी के लिये खतरा साबित हो सकती है और जीतने का दम रखती है। टीम को बस यह याद रखना है कि वो ऑस्ट्रेलिया में जीतने गए हैं। और वो उस कारनामे को दोहरा सकते हैं, जो उन्होंने पिछली बार किया था।”

चेतेश्वर पुजारा का ऑस्ट्रेलिया रिकॉर्ड 

पिछली सिरीज़ में, 2018-19 के दौरे में चेतेश्वर पुजारा ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम इंडिया की तरफ से बेहतरीन प्रदर्शन किया था। उस श्रृंखला में अगर हम दोनों टीम के बल्लेबाज़ों की बात करें तो, पुजारा अकेले ऐसे बल्लेबाज़ रहे जो दोनों टीमों के बीच सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ रिकॉर्ड किये गए।  पिछले दौरे में 3 मैचों कि टेस्ट सिरीज़ में उन्होंने 521 रन बनाये थे, जिसमें 3 शतक और 1 अर्धशतक भी शामिल थे।

दूसरे खिलाड़ी, के.एल. राहुल (K.L.RAHUL) फुल फॉर्म में हैं। कुछ दिन पहले संपन्न हुए आईपीएल 2020 (IPL T20, 2020) में राहुल ने बेजोड़ प्रदर्शन किया था। हालांकि, उनकी टीम किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) आखिरी दौर में फाइनल तक नहीं पहुंच सकी, लेकिन राहुल ने अबकी सीज़न के आईपीएल में खेले 14 मैचों में सबसे ज़्यादा रन बनाने का कीर्तिमान बनाया। राहुल ने आईपीएल 2020 में 670 रन बनाए और सीज़न में सर्वाधिक रन बनाने का ताज ‘ऑरेंज कैप’ (ORANGE CAP, IPL T20, 2020) अपने नाम किया। यूं तो, राहुल 2 साल बाद टेस्ट क्रिकेट में वापसी कर रहे हैं और अभी तक उनका प्रदर्शन टेस्ट क्रिकेट में बहुत शानदार नहीं रहा है, लेकिन जिस फॉर्म में वो नज़र आये, इससे उम्मीद है कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैचों में अपने प्रशंसकों को वो निराश नहीं करेंगे।  

गौरतलब है कि, विराट कोहली जनवरी में पिता बनने जा रहे हैं।  इसी कारण से वो पहले टेस्ट मैच के बाद भारत लौटेंगे। उनकी ग़ैरमौजूदगी में अजिंक्य रहाणे के कंधे टीम की कप्तानी का ज़िम्मा होगा।