michael vaughan and virat kohli

    -विनय कुमार

    भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए दूसरे वनडे मैच (2nd ODI India vs England 2021 Pune) इंग्लैंड ने जबरदस्त बल्लेबाजी करते हुए भारत की तरफ से जीत के लिए दिए गए 337 रनों के विराट स्कोर को सिर्फ 43.3 ओवर में ही हासिल कर लिया। इस मैच में भारतीय टीम की गेंदबाजी निराशाजनक रही।

    टीम इंडिया के इस प्रदर्शन को देखने के बाद इंग्लैंड के पूर्व धुरंधर कप्तान माइकल वॉन (Michael Vaughan) ने भारतीय टीम को आड़े हाथों लिया। माइकल वॉन ने टीम इंडिया की बल्लेबाजी में पहले 40 ओवर तक डिफेंसिव खेल की आलोचना करते हुए कहा कि अगर वो (Indian Team) इसी तरह से खेलते रहे तो 2023 में भारत में होने वाले ‘ICC ODI WORLD CUP 2023’ से हाथ धोना पड़ जाएगा।

    माइकल वॉन (Michael Vaughan) के मुताबिक, भारत ने हमेशा ही पहले 40 ओवर में डिफेंसिव और आखिरी के 10 ओवर्स में तेजी से रन बनाने की रणनीति को अपनाया है। वनडे क्रिकेट में ये रणनीति कई बार कारगर साबित होती है। लेकिन, ODI WORLD CHAMPION इंग्लैंड की टीम ने दिखा दिया कि अगर पिच बल्लेबाजों के लिए सही हो, तो आपको शुरू से ही आक्रामक बल्लेबाजी करनी चाहिए। जिसका फायदा आपको बड़ा लक्ष्य चेज करने में मिलता है।

    माइकल वॉन ने कहा, “विराट कोहली (Virat Kohli) की पहले 40 ओवर में डिफेंसिव खेलने और बाद में तेजी से रन बनाने की रणनीति का नुकसान उन्हें 2 साल बाद होने वाले World Cup उठाना पड़ सकता है। टीम इंडिया के पास 375 से ज्यादा रन बनाने की कूवत तो है, लेकिन वह इस रणनीति की वजह से पीछे रह जाती है। इंग्लैंड इस रणनीति के साथ खेलती रही है।”

    उम्मीद है कि आपने ज़रूर गौर किया होगा कि पुणे में खेले गये दूसरे वनडे मैच में टीम इंडिया ने अंतिम 10 ओवर में 126 रन ठोक डाले थे, जबकि पहले के 40 ओवर में रन बनाने मृंधीम रही और 40 ओवर में सिर्फ 210 रन बने थे।वहीं इसके ठीक उल्टे इंग्लैंड की टीम ने अपनी बल्लेबाजी के आरंभ से ही आक्रामक रुख अपनाया और बड़ी तेज़ी से रन बनाकर 6.3 ओवर बाकी रहते जीत हासिल कर ली।