ind vs eng 4th t20 match Why Shardul Thakur came under stress in high voltage over

निर्णायक ओवर में शार्दुल ठाकुर के लिए बड़ी कठिन चुनौती थी, और तनाव में आकर उन्होंने एक्स्ट्रा रन और गेंद भी दे दिए।

    -विनय कुमार

    भारत और इंग्लैंड के बीच 5 मैचों की T20 सीरीज का चौथा मैच भारत ने बड़ी मुश्किल से नेक टू नेक फाइट में जीत लिया और इंग्लैंड देखता रह गया। टीम इंडिया ने इंग्लैंड को 8 विकेट से हराया। 

    मैच का आखिरी ओवर बेहद रोमांचक था। इंग्लैंड जीत के करीब पहुंच चुकी थी। जब इंग्लैंड को जीत के लिए अंतिम ओवर में 23 रनों की जरूरत थी, उस वक्त मैच की कप्तानी कर रहे रोहित शर्मा ने गेंदबाज शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) को बोलिंग दी। निर्णायक ओवर में शार्दुल ठाकुर के लिए बड़ी कठिन चुनौती थी, और तनाव में आकर उन्होंने एक्स्ट्रा रन और गेंद भी दे दिए।  लेकिन जीत भी उन्होंने दिलाई। मैच खत्म होने के बाद शार्दुल ठाकुर ने बताया कि अंतिम ओवर में वो बहुत तनाव में क्यों अब गए थे।

    भारत ने इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए 186 रन बनाए और इंग्लैंड को जीत के लिए 187 रनों का लक्ष्य दिया। इंग्लैंड 20वें ओवर में 7 विकेट पर 163 रन पर था। रोहित शर्मा ने शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) को 20वां और निर्णायक ओवर देने का रिस्क ले लिया। शार्दुल ने मैच का आखिरी ओवर शुरू किया। शुरू करते ही उन्होंने तनाव में 2 वाइड फेंके और 1 छक्का और चौका भी खाए। भारत हार की कगार पर आ गया था, लेकिन शार्दुल ने क्रिस जॉर्डन (Chris Jordan) को 19.5 गेंदों पर आउट करा दिया और भारत 8 विकेट से मैच जीत लिया।

    मैच के बाद शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) ने कहा, “पिछले तीन मैचों की तुलना में इस मैच में मैदानों बहुत ज्यादा ओस थी। जिससे आखिरी ओवर में गेंद को स्विंग कराना बहुत मुश्किल हो गया। अंतिम ओवर में निडर होकर बोलिंग करनी चाहिए थी। लेकिन ऐसा नहीं होंपाया। जब मैंने धीमा बाउंसर फेंका, तो बल्लेबाज ने उस गेंद पर छक्का ठोक दिया। अगर हम बाउंसर गेंद (bouncer ball) को स्टंप पर धीमी गति से फेंकते हैं, तो इसे शॉट लगाना आसान होता है। इसलिए मैं गेंद को पावर जोन (Power Zone) से थोड़ा दूर रखना चाहता था। मैंने यही किया है, और ये काम कर गया।”