IPL में नहीं हो रही डोप सैंपलिंग, NADA को अभी तक नहीं मिली मंजूरी

– विनय कुमार

IPL T20, 2020 का शुभारंभ 19 सितंबर को अबू धाबी के शेख जायद स्टेडियम में गत चैंपियन मुंबई इंडियंस (MI) और चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के बीच मैच के साथ शुरू हुआ था। जिसमें चेन्नई सुपर किंग्स ने जीत के साथ अपनी यात्रा शुरू की थी। हालांकि, IPL T20, 2020 को शुरू हुए काफी दिन बीत चुके हैं, पर ‘ नेशनल एंटी-डोपिंग एजेंसी’ (NADA) के डोप कंट्रोल ऑफिसर्स (DOCs) UAE में नहीं पहुंचे हैं।

डोपिंग टेस्ट के लिए सैंपल कलेक्शन की प्रक्रिया भी शुरू होनी बाकी है क्योंकि नाडा के अधिकारी UAE की यात्रा के लिए भारत सरकार की अनुमति का इंतजार कर रहे हैं। NADA की टीम सितंबर के दूसरे सप्ताह UAE के दौरे पर आने को तैयार थी, लेकिन सरकार के पास विदेश मंत्रालय स्वीकृति नहीं थी।

अब तक NADA को IPL की मंजूरी नहीं 

‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ (TOI) के मुताबिक, NADA अगले सप्ताह तक या तो दुबई या शारजाह में अपनी DOC भेजने की मंजूरी लेने की जुगत में है। पर, , देश में कोरोना की स्थिति और दुनिया भर में इसके प्रकोप के मद्देनजर UAE के संबंधित अधिकारियों की तरफ़ से जारी स्वास्थ्य प्रोटोकॉल के कारण डोपिंग टेस्ट का मामला आधार में पड़ सकता है।

खबरों के मुताबिक, NADA ने टूर्नामेंट शुरू होने से पहले आईपीएल-2020 में डोप परीक्षण के लिए प्रस्ताव पेश किया था और मंत्रालय ने सरकार में आवश्यक कर्मियों को भेज भी था। ख़ैर, अगर NADA KE अधिकारी आते भी हैं तो उन्हें भी सुरक्षा के मद्देनजर को एहतियात के तौर पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) सेफ्टी बायोबबल से गुजरना पड़ेगा।

इससे पहले NADA ने UAE के NADO के साथ मिलकर अपनी डोपिंग विरोधी गतिविधियों पर पालन करने के लिए खाड़ी देश में 5 ‘डोप कंट्रोल स्टेशन’ बनाए। साथ ही, इसमें बड़ी लागत के मद्देनजर NADA ने क्रिकेटरों की केवल 20 इन-प्रतियोगिता और 30 आउट-ऑफ-क्रिकेट क्रिकेटरों का संचालन करने की योजना बनाई थी। ख़ैर, जहां तक T20, 2020 ​​टूर्नामेंट के शेड्यूल का सवाल है, फाइनल 10 नवंबर को खेला जाना है।