“धोनी हमेशा फ़ोन नहीं रखते, लेकिन..” आशीष नेहरा ने क्या बताया ?

– विनय कुमार

आईपीएल T20 के इस ताज़ा सीज़न (IPL T20, 2020) में चेन्नई सुपर किंग्स का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा है. इस सीज़न में टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भी फॉर्म में नहीं हैं, उनकी बल्लेबाज़ी में गर्मी नहीं दिख रही है. उनका बल्ला अबकी सीज़न ख़ास बोल नहीं बोल पाया है. लेकिन इसके बावजूद धोनी वर्ल्ड क्रिकेट (WORLD CRICKET) में अबतक के सबसे कामयाब कप्तानों में से एक हैं.

विश्व क्रिकेट में महेंद्र सिंह धोनी की जगह खास है. ‘कप्तान कूल’ महेंद्र सिंह धोनी ने टीम इंडिया (TEAM INDIA) को 2007 में T-20 का विश्वकप (T20 WORLD CUP) जिताया. 2011 में वनडे विश्वकप (One Day World Cup), 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी (Chaimpions Trophy) में जीत दिलाई. टीम इंडिया की कप्तानी के अलावा महेंद्र सिंह धोनी को दुनिया के बेहतरीन फिनिशर खिलाड़ी के तौर पर जाना जाता है.

धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने टीम इंडिया को अपने बल्ले के दम पर कई मैचों में जीत दिलाई है. धोनी की कप्तानी में रोहित शर्मा, विराट कोहली, कुलदीप यादव, रवींद्र जडेजा, सुरेश रैना जैसे खिलाड़ी टीम में उभर कर सामने आये. उन्होंने इन खिलाड़ियों में बेहतरीन मैच विनर भी तलाशा. महेंद्र सिंह धोनी के साथ टीम इंडिया के पूर्व घातक तेज़ बोलर आशीष नेहरा लंबे समय तक खेले चुके हैं. हाल ही में आशीष नेहरा ने धोनी के साथ अपने संबंध को लेकर बात की.

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के साथ बिताए समय और उनके साथ कभी न भूल पाने वाली बातें शेयर की. आशीष नेहरा ने कहा कि, “जब भी आप उनके नाम की चर्चा करते हैं, आपके दिमाग में क्या आता है, मजबूती, निरंतरता, वो अपने फ़ैन्स  को मुस्कुराने की कई वजहें देते हैं, आप चाहे टीम इंडिया के रंग की बात करिए या फिर सीएसके के रंग की.” नेहरा ने कहा कि, “धोनी से सीखने के लिए बहुत कुछ है, मेरे लिए धोनी युवा साथी भी रहे, वरिष्ठ दिग्गज भी, वह हमेशा आपके साथ रहे, हाथ में हाथ पकड़े. वह हमेशा हर चीज में सकारात्मक देखते हैं. वह हमेशा कहते हैं, या तो आप जीतते हैं या फिर सीखते हैं, आप हारते कभी नहीं हैं. मैं उनके साथ खेला हूं, मैं विश्वकप, चैंपियंस ट्राफी जीतने की उनकी उपलब्धि के तौर पर उन्हें नहीं जानता, यह सब उनका एक हिस्सा मात्र है. वह बेहद ही खास हैं. धोनी के साथ मेरे खास नाता है. वह हमेशा अपने साथ फोन नहीं रखते हैं लेकिन हम जब भी मिलते हैं, फिर चाहे वह एक या दो साल बाद भी हो, ऐसा लगता है कि हम रोज मिलते हैं, वह हर किसी के लिए एक सकारात्मक ऊर्जा वाले खिलाड़ी हैं.”

गौरतलब है कि महेंद्र सिंह धोनी ने 15 अगस्त 2020 की शाम 7.29 बजे अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का एलान किया था. जिसके बाद आईपीएल के इस ताज़ा टूर्नामेंट में मैदान में उतरे. लेकिन, अबकी सीज़न उनकी टीम चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) का का जादू नहीं चल पाया. CSK 10 मैच खेल चुकी है जिसमें 7 मैच हारकर प्वाइंट्स टेबल पर आखिरी पायदान पर है. ऐसे में अब 7 मैच हारने के बाद उसका इस ताज़ा सीज़न में ‘प्लेऑफ’ में पहुंचने की उम्मीद लगभग ख़त्म हो गई है.