छोटी पारी खेलकर भी धोनी ने जीता दिल और मैच, ठोका 102 मीटर का छक्का

– विनय कुमार

IPL T20, 2020 के इस ताज़ा सीज़न में चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की बल्लेबाजी में पुरानी धार नजर नहीं आई जिसके लिए वो जाने जाते हैं। बीते 7 मैचों में से 5 में हार का सामना करने वाले कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में येलो आर्मी IPL T20 की 3 बार चैम्पियन रह चुकी है। अबकी सीज़न लगातार निराशजनक प्रदर्शन को लेकर धोनी सवालों के घेरे में हैं, लेकिन, आईपीएल सीजन-13 के 29 वीं भिड़ंत में आज सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) के खिलाफ धोनी में ‘धोनी रंग’ नजर आया। कप्तान धोनी (Mahendra Singh Dhoni) पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए और छोटी सी पारी में एक नज़राना दिखा गए कि बात अभी बाकी है दोस्तों। आने वाले मैचों में उनका बल्ला ऐसे ही आग उग्लेगा।

ठोका 102 मीटर का छक्का

इस मैच में कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने 13 गेंदों में 21 रनों की पारी खेली, जिसमें 2 चाैके और 1 छक्का शामिल है। उनका स्ट्राइक रेट 161.54 का रहा। धीमी के बल्ले से को छक्का निकला वो कोई मामूली छक्का नहीं था, 102 मीटर लंबा छक्का था। इस छक्के को देख धोनी के चाहने वालों में उम्मीद की चिंगारी को हवा ज़रूर मिली होगी। धोनी ने 19वें ओवर की पांचवीं गेंद पर ये छक्का जड़ा। तेज गेंदबाज टी .नटराजन ने यार्कर फेंकी जिसपर महेंद्र सिंह धोनी ने ऑफ साइड में ये धमाकेदार शाॅट खेला।

ग़ौरतलब है कि, आईपीएल (IPL T20) के इतिहास में सबसे सफल कप्तान एम.एस. धोनी इस बार फॉर्म में नजर नहीं आ रहे हैं। उनके खेल पर उम्र के हावी होने की बातें कह जा रही हैं। धोनी ने आखिरी ओवर में कई बार अपनी टीम को जीत दिलाई, जो इस बार फ्लॉप साबित हो रही है। चेन्नई सुपर किंग्स (CSK)  के कप्तान धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने अब तक 8 मैचों में 33.25 के औसत और 135.71 के स्ट्राइक रेट से 133 रन बनाए हैं। इस बार उनके बल्ले से सिर्फ़ 9 चौके और 6 छक्के निकले हैं। लेकिन, आज के मैच को कप्तान धोनी ने जीत लिया और IPL T20, 2020 के पॉइंट्स टेबल में  7 वें पायदान से चढ़कर 6 अंक के साथ 6 वें पायदान पर पहुंच गए हैं। अब इस मैच की जीत के साथ CSK के चाहनेवालों को पूरी उम्मीद होगी कि ‘कैप्टेन कूल’ 2010 की तरह अबकी बार भी जलवा ज़रूर दिखाएंगे। 2010 में ठीक इसी हाल से ‘येलो आर्मी’ उभर कर सामने आई थी और IPL T20 की ट्रॉफी पर कब्ज़ा जमाया था।