RR vs CSK: पानी-पूरी बेचकर IPL तक का सफर

– विनय कुमार

शाहजाह के मैदान में राजस्थान रॉयल्स का पहला मुकाबला चेन्नई सुपर किंग्स के साथ है, जिसने आईपीएल 2020 का पहला मैच मुंबई इनडियंस से जीता। जब हम इस मैच में प्लेइंग इलेवन की बात करते हैं तो एक युवा खिलाड़ी हकदार दिखाई देता है, यशस्वी जायसवाल।

सिर्फ़ 18 साल के यशस्वी जायसवाल, जो एक समय  मुंबई में पानीपूरी बेचकर गुजारा करते थे। खेलने का जुनून बचपन से था। यशस्वी को राजस्थान रॉयल्स ने 2 करोड़ 40 लाख रुपये में खरीदा। जायसवाल पिछले साल 2019 में प्रथम श्रेणी क्रिकेट में डबल सेंचुरी बनाने वाले सबसे युवा बल्लेबाज बने।

यशस्वी के लिए यश कमाने का मौका

बाएं हाथ का ये खिलाड़ी डोमेस्टिक स्तर पर काफी सफल रहा है, और उनसे आईपीएल (IPL) में भी यही दोहराने की उम्मीद है। गेंद के साथ भी उनकी भूमिका हो सकती है। और, बटलर की अनुपस्थिति में पावरप्ले ओवरों को भुनाने की उनकी क्षमता RR की बल्लेबाजी लाइन-अप के लिए काफी अहम होगी।

गौरतलब है कि, यशस्वी जायसवाल के लिए 4 साल पहले दुनिया बिल्कुल एक अलग जगह थी। जब वे 2012 में मुंबई आए तो आंखों में क्रिकेटर बनने का सपना था। यहां तक पहुंचने में उन्होंने बहुत संघर्ष किया।

तंबू में रहने से लेकर पानीपूरी तक बेचा

मुंबई में सिर पर छत नहीं थी। उनके संघर्ष के कतिं दिनों में आज़द मैदान के मुस्लिम यूनाइटेड क्लब के टेंट में पनाह मिला। इस दौरान क्रिकेट खेलने के साथ खाने की दुकान पर भी काम भी किया। तंबू में रहने  के दौरान साथ रहने वालों की रोटियां भी बनाया करते थे। पानी-पूरी भी बेचे। उस टेंट में बिजली, पानी और वॉशरूम जैसी कोई भी सुविधा भी नहीं थी। लेकिन, उन्होंने संघर्ष जारी रखा।

इस दौरान यशस्वी के पास ना तो कोच था और ना ही पैसे। उनका खेल में लगातार निखार आता गया। और तभी कोच ज्वाला सिंह की नजर उन पर पड़ी और यहीं से यशस्वी को क्रिकेट की ट्रेनिंग मिलनी शुरू हो गई। यशस्वी जायसवाल ने ‘लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड’ में जगह बनाई,  उन्होंने 319 रन बनाए थे और एक स्कूल स्तर के मैच में 13/99 (सबसे अधिक रन और विकेट) के गेंदबाजी का आंकड़ा हासिल किया था।

आज अगर यशस्वी करिश्मा कर जाते हैं तो यह उनके लिए टीम इंडिया के चयनकर्ताओं की नजरों में आने का बेहतरीन मौका होगा। आईपीएल (IPL T20) के तीसरे ही मैच में आरसीबी (RCB) के बल्लेबाज देवदत्त पडिक्कल की किस्मत खुल गई। जिन्होंने अपने डेब्यू मैच में ज़ोरदार अर्धशतक मारा और  ना सिर्फ साथी खिलाड़ी एरोन फिंच की चमक को धुंधला कर दिया, बल्कि RCB के कप्तान विराट कोहली और एबी डिविलियर्स जैसे खिलाड़ियों से वाहवाही भी बटोरी।