dhawan

वह मैदान से बाहर चले गये और धवन ने उनकी जगह कप्तानी की जिम्मेदारी निभाई।

दुबई. दिल्ली कैपिटल्स (DC) के बल्लेबाज शिखर धवन (Shikhar Dhawan) ने कहा कि कप्तान श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) अब भी दर्द महसूस कर रहे हैं और स्कैन के बाद ही उनके कंधे की स्थिति के बारे में सही पता चल पाएगा। राजस्थान (RR) की बल्लेबाजी के दौरान पांचवें ओवर की आखिरी गेंद पर बेन स्टोक्स के शॉट को रोकने के लिए अय्यर ने डाइव लगायी और टीम के लिए तीन रन बचाये लेकिन इस दौरान उनका कंधा चोटिल हो गया। वह मैदान से बाहर चले गये और धवन ने उनकी जगह कप्तानी की जिम्मेदारी निभाई।

मैच के बाद पुरस्कार समारोह में धवन ने कहा, ‘‘ श्रेयस दर्द महसूस कर रहा है। हमें चोट के बारे में स्कैन के बाद पता चलेगा। अच्छी बात यह है कि उनके कंधे में हरकत है।” इस मैच में दिल्ली ने सात विकेट पर 161 रन बनाने के बाद राजस्थान रॉयल्स को 148 रन पर रोककर 13 रन की रोमांचक जीत दर्ज की। धवन ने कहा कि उन्हें अपनी टीम की जीत का भरोसा था क्योंकि रॉयल्स शीर्ष क्रम के अपने बल्लेबाजों पर अधिक निर्भर है।

उन्होंने कहा, ‘‘ हमें अपनी टीम की जीत का भरोसा था। हमें पता था कि उनकी बल्लेबाजी में ज्यादा गहराई नहीं है। हम जानते थे कि उनके शीर्ष क्रम को जल्दी निपटाकर मैच पर पकड़ बना सकते है।” उन्होंने मैन ऑफ द मैच एनरिच नोर्जे और पहला मैच खेलने वाले तेज गेंदबाज तुषार देशपांडे की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘ हमारे पास अनुभवी गेंदबाज है। एनरिच के रूप में शानदार तेज गेंदबाज है। तुषार ने भी चतुराई से गेंदबाजी की।”

नोर्जे ने चार ओवर में 33 रन देकर दो विकेट जबकि देशपांडे ने 37 रन देकर दो विकेट लिये। नोर्जे ने इस दौरान 155-156 किलोमीटर की रफ्तार से गेंदबाजी की। दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज नोर्जे ने कहा, ‘‘मुझे इस बारे में पता नहीं है कि मैंने 156 किलोमीटर की रफ्तार से गेंदबाजी की है। यह सुनकर अच्छा लग रहा है। मैं तेज गेंदबाजी करते हुए स्टंप्स को निशाना बनाने की कोशिश कर रहा था।” उन्होंने कहा, ‘‘ हमारे पास अच्छे कोच है। कागिसो रबाडा और दूसरे तेज गेंदबाजों के साथ काम करना अच्छा रहा।”

राजस्थान के कप्तान स्टीव स्मिथ ने इस हार को निराशाजनक करार देते हुए कहा कि टीम अच्छी शुरूआत का फायदा नहीं उठा सकी। उन्होंने कहा, ‘‘ यह निराशाजनक है। पिच अच्छी थी लेकिन हम जोस बटलर और बेन स्टोक्स से मिली अच्छी शुरूआत का फायदा नहीं उठा सके। स्टोक्स और संजू सैमसन ने भी अच्छी साझेदारी की लेकिन हमने काफी विकेट गंवा दिये।” उन्होंन कहा, ‘‘ऐसी धीमी पिचों पर आखिरी में रन बनाना मुश्किल होता है। किसी बल्लेबाज को लगभग 60 रन बनाने चाहिये थे और आखिर तक खेलना चाहिये था।”  (एजेंसी)