kartik-tyagi-who-took-the-wicket-of-de-kock-in-his-childhood-knew-the-story-of-his-struggle

इस टूर्नामेंट के ज़रिये युवा खिलाड़ियों को न सिर्फ नाम कमाने का मौका मिलता है, बल्कि 'टीम इंडिया' में जाने का एक सीधा रास्ता भी साफ़ नज़र आता है.

-विनय कुमार

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL T20) ने अब तक कई ऐसी प्रतिभाओं को दुनिया के सामने लाकर रख दिया जो इस टूर्नामेंट के न होने पर शायद क्रिकेट की दुनिया में इतनी जल्द या फिर शायद बहुत मुश्किल से या फिर शायद कभी नहीं सुर्खियां बटोर पाते. कई खिलाड़ियों के दिन बदल गए, कितनों का जीवन बदल गया. इस टूर्नामेंट के ज़रिये युवा खिलाड़ियों को न सिर्फ नाम कमाने का मौका मिलता है, बल्कि ‘टीम इंडिया’ में जाने का एक सीधा रास्ता भी साफ़ नज़र आता है. 

आईपीएल के इस ताज़ा सीज़न यानी IPL T20, 2020 में भी कुछ ऐसे ही नौजवानों को मौका मिला. आईपीएल  की २०वीं  भिड़ंत मंगलवार 6 अक्टूबर को  राजस्थान राॅयल्स (RR) और मुंबई इंडियंस (MI) के बीच हुई. मुंबई इंडियन से राजस्थान रॉयल्स को बुरी तरह 57 रनों से हराया, लेकिन हार के बावजूद राजस्थान रॉयल्स (RR) का एक खिलाड़ी सुर्खियां बटोरने में कामयाब रहा, जो एक साधारण किसान का बेटा है. 

यूपी के किसान के बेटे का कमाल 
आईपीएल 2020  की नीलामी के दाैरान 1.30 करोड़ में बिके राजस्थान रॉयल्स के तेज गेंदबाज कार्तिक त्यागी उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले के गांव धनाैरा के रहने वाले हैं और एक साधारण किसान के बेटे हैं. कार्तिक त्यागी ने मुंबई इंडियंस के खिलाफ बुधवार के मैच में 4 ओवर बॉलिंग की और उन्होंने 36 रन दिए, लेकिन एक विकेट भी चटकाया, वो भी ओपनर सलामी बल्लेबाज़ क्विंटन डी काॅक का। डी काॅक फुल फॉर्म में थे, तूफानी बल्लेबाज़ी कर रहे थे, 14 गेंदों में 3 चाैके व 1 छक्के की मदद से 23 रन बना चुके थे. तभी 5 वें ओवर की  5वीं गेंद पर कार्तिक ने ऐसा बाउंसर डाला कि डी काॅक शाॅट लगाने में कामयाब नहीं हो सके डी काॅक ने ऊंची हिट कर विकेटकीपर जो बटलर के हाथों कैच थमा दिया और कातिक त्यागी को आईपीएल (IPL 2020) करियर का पहला विकेट मिल गया. डी कॉक आउट होकर पवेलियन लौट गए. 

खेत में बनाई पिच और की प्रैक्टिस 
मैच के दाैरान कमेंटेटर भी कार्तिक त्यागी की गेंदबाजी की जमकर तारीफ करते दिखे. कार्तिक द्वारा डी काॅक को आउट करने वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. कमेंट्री के दौरान कमेंटेटर आकाश चोपड़ा ने बताया कि, कार्तिक त्यागी के पिता एक किसान हैं. वे खुद वॉलीबॉल का प्लेयर बनना चाहते थे, लेकिन हालात ऐसे थे कि उनको किसान बनना पड़ा. उन्होंने अपने बेटे को खिलाड़ी बनाने का सपना देखा. उनका बेटा कार्तिक को बचपन से ही क्रिकेट में रूचि थी. पिता ने खेत में ही कार्तिक के लिए पिच बनवा दी थी. कार्तिक ने यहां प्रैक्टिस करते हुए कठिन परिश्रम किया और फिर क्रिकेटर बन गए.