Jhulan-Goswami

    टांटन (इंग्लैंड). अनुभवी खिलाड़ी झूलन गोस्वामी (Jhulan Goswami) ने कहा कि भारतीय महिला क्रिकेट टीम (Indian Women Cricket Team) इंग्लैंड श्रृंखला (England Series) के आगामी मैचों और उससे बाद भी विभिन्न विकल्पों को आजमाना जारी रखेगी ताकि यह पता लगाया जा सके कि न्यूजीलैंड में अगले साल होने वाले महिला विश्व कप में कौन सा संयोजन सबसे अच्छा होगा। भारतीय बल्लेबाजों ने इंग्लैंड के खिलाफ पहले एकदिवसीय मैच में 180 से अधिक डॉट गेंद खेली। इसमें कप्तान मिताली राज, पूनम राउत और दीप्ति शर्मा जैसे अनुभवी मध्यक्रम के खिलाड़ियों को रन चुराने के लिए जूझना पड़ा।

    इंग्लैंड की महिला टीम ने दो विकेट के नुकसान पर 202 रन के लक्ष्य को आसानी से हासिल कर तीन मैचों की श्रृंखला में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली। टीम की उपकप्तान हरमनप्रीत कौर के बल्लेबाजी क्रम पर पूछे गये सवाल का झूलन से साफ जवाब नहीं दिया लेकिन कहा कि अगले साल न्यूजीलैंड में होने वाले विश्व कप से पहले कई विकल्प आजमाए जाएंगे।

    झूलन ने इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे महिला एकदिवसीय की पूर्व संध्या पर कहा, “हम अपने संयोजन को ठीक करने की कोशिश कर रहे हैं। हम कुछ विकल्प तलाशने की कोशिश कर रहे हैं। अब हमारे लिए कौन से विकल्प सही रहेंगे, हम उसी की तलाश कर रहे हैं। जो कुछ भी होगा (विकल्पों को हम अंतिम रूप देने के मामले में), प्रबंधन विश्व कप से पहले फैसला करेगा।”

    उन्होंने कहा, “विश्व कप से पहले हम कुछ चीजों को व्यवस्थित करने की कोशिश कर रहे हैं। उम्मीद है कि आने वाले मैचों में, आने वाली श्रृंखला में हम उन सभी चीजों को सुलझा लेंगे।” झूलन का मानना है कि युवा शेफाली वर्मा से अधिक उम्मीद कर दबाव नहीं बनाना चाहिये। वह इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि मध्य-क्रम लय हासिल कर प्रभावी प्रदर्शन करेगा।

    उन्होंने कहा, “शेफाली का वह पहला ही मैच था। उसने अभी पदार्पण किया है। हम उससे इतनी उम्मीदें कर रहे है क्योंकि उसने अब तक काफी प्रभावित किया है। हमें शीर्ष तीन बल्लेबाजों में से किसी एक से बड़ी पारी की जरूरत है। हरमन (कौर) को भी एक अच्छी पारी की जरूरत है। मध्यक्रम से एक अच्छी पारी की जरूत है।”

    झूलन ने कहा कि गेंदबाजी इकाई को भी सुधार करने की जरूरत है क्योंकि टैमी ब्यूमोंट और नेट स्किवर ने लगभग 100 के स्ट्राइक रेट से बिना किसी परेशानी के रन जुटाये। उन्होंने कहा, “ईमानदारी से कहूं तो हमें एक गेंदबाजी इकाई के रूप में मजबूती से वापसी करने की जरूरत है। हमने बहुत सी चीजों पर चर्चा की है, उम्मीद है कि हम इसे सुलझा लेंगे और मजबूती से वापसी करेंगे।” (एजेंसी)