virat-kohlis-return-will-create-big-hole-india-australia-series-fate-lies-on-selection-choices-ian-chappell

सिडनी: भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने गुरुवार को रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की चोट पर अपने असंतोष को नहीं छिपाते हुए कहा कि ‘भ्रम की स्थिति और स्पष्टता की कमी’ के कारण टीम प्रबंधन को उनकी उपलब्धता को लेकर ‘इंतजार’ करना पड़ रहा है जो आदर्श स्थिति नहीं है। शुक्रवार को आस्ट्रेलिया (Australia) के खिलाफ होने वाले पहले एकदिवसीय से पूर्व मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कोहली ने कहा कि इस महीने की शुरुआत में हुई चयन समिति की बैठक से पहले रोहित को अनुपलब्ध बताया गया था।

कोहली ने कहा, ‘‘चयन समिति की बैठक से पहले हमें ईमेल मिला था कि वह उपलब्ध नहीं है। इसमें कहा गया कि उसे आईपीएल के दौरान चोट लगी। इसमें कहा गया कि उसे चोट से संबंधित जानकारियां दी गई है और वह समझ गया है और वह अनुपलब्ध रहेगा। ”

पैर की मांसपेशियों में चोट से उबर रहे रोहित बेंगलुरू की राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में रिहैबिलिटेशन से गुजर रहे हैं और उन्हें अब भी पूर्ण मैच फिटनेस हासिल करने में तीन हफ्ते लगेंगे लेकिन 14 दिन के पृथकवास (बिना ट्रेनिंग के) के कारण वह 17 दिसंबर से शुरू हो रही टेस्ट श्रृंखला से बाहर हो सकते हैं। आस्ट्रेलिया दौरे की टीम से बाहर होने के कुछ दिन के अंदर वह इंडियन प्रीमियर लीग में खेले जिसके बाद उन्हें टेस्ट टीम में शामिल किया गया।

कोहली ने कहा, ‘‘इसके बाद (चयन समिति की बैठक) वह आईपीएल में खेला और हम सभी ने सोचा कि वह आस्ट्रेलिया जाने वाली फ्लाइट में होगा और हमें कोई सूचना नहीं थी कि वह हमारे साथ यात्रा क्यों नहीं कर रहा। कोई सूचना नहीं थी, स्पष्टता की कमी थी। हम इंतजार कर रहे हैं।” कोहली ने कहा कि एनसीए में रोहित का अगला आकलन 11 दिसंबर को होगा और फिलहाल आस्ट्रेलिया में बैठी टीम इंतजार ही कर सकती है।

कप्तान ने अपनी खीझ जाहिर करते हुए कहा, ‘‘इसके अलावा हमें सिर्फ इतनी सूचना मिली है कि वह एनसीए में है और उसका आकलन किया जा रहा है। 11 दिसंबर को दोबारा उसका आकलन होगा। यह बिलकुल भी आदर्श स्थिति नहीं है। यह काफी भ्रमित करने वाला है। काफी अनिश्चितता है और स्थिति को लेकर स्पष्टता की कमी है।”

कोहली ने कहा कि 14 दिन के कड़े पृथकवास को देखते हुए अब रोहित और साइड स्ट्रेन से जूझ रहे तेज गेंदबाज इशांत शर्मा का यहां आना तय नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘फिलहाल काफी अनिश्चितता है। वे जगह बना पाएंगे या नहीं।” कोहली ने कहा कि रोहित और इशांत दोनों के लिए यह आदर्श होता कि वे रिद्धिमान साहा की तरह अपना रिहैबिलिटेशन राष्ट्रीय टीम के ट्रेनर निक वेब और फिजियो नितिन पटेल के मार्गदर्शन में करते।