धोनी के क्रिकेट-गुरू देवल सहाय का निधन

– विनय कुमार

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के क्रिकेट-गुरु देवल सहाय का आज 24 नवंबर को निधन हो गया। सांस लेने में कठिनाई की शिकायत पर सहाय अस्पताल में भर्ती थे। देवल सहाय ७३ साल के थे। (MS Dhoni’s cricket guru Deval Sahay passed away)

मिली जानकारी के मुताबिक, देवल सहाय की तबियत बीते 3 महीने से ठीक नहीं थी। वो रांची के मेडिका अस्पताल में भर्ती थे। कुछ दिनों तक अस्पताल में इलाज कराने के बाद 9 अक्टूबर को अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी और वो घर आ गए थे। उनके बेटे अभिनव आकाश ने कहा, “घर पर लगभग 10 दिन बिताने के बाद, उन्हें फिर से अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां उसकी तबीयत और बिगड़ गई। मंगलवार को रांची में उनका निधन हो गया। “

देवल सहाय ‘झारखंड स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन’ (Jharkhand State Cricket Association) के वाईस-प्रेजिडेंट थे। काफी साल पहले सहाय सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड में निदेशक के तौर पर भी काम कर चुके थे। एम एस धोनी के मेंटॉर देवल सहाय की चर्चा धोनी पर बानी बायोपिक ‘एमएस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी’ में भी की गई है। क्रिकेट की दुनिया में कप्तान कूल के नाम से मशहूर और भारतीय क्रिकेट के इतिहास में अभी तक के सबसे सफल कप्तान, जिसने 2007 का T20 वर्ल्ड कप, 2011 वनडे वर्ल्ड कप और 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी भारत के नाम किया, उस महान क्रिकेटर को जीवन में नई और सही दिशा देने वाले देवल सहाय ही थे।  

धोनी के मेंटॉर देवल सहाय मेकॉन, सीएमपीडीआई और सीसीएल जैसी बड़ी कंपनियों में सीनियर पोजीशन पर भी काम कर चुके थे। बताया जाता है कि, उन्होंने तीनों संस्थानों में खिलाड़ियों के सेलेक्शन का द्वार खोला और इसका सबसे ज्यादा लाभ क्रिकेट के खिलाड़ियों को मिला।