Rohit Sharma told that due to which he became a successful captain

इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन में आज 9वां मैच खेला जाना है.

-विनय कुमार

इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन में आज 9वां मैच खेला जाना है. इस बीच IPL T20 के सबसे सफल कप्तान रोहित शर्मा ने कप्तानी में सफलता का राज़ खोला. मुंबई इंडियंस (MI) सबसे ज़्यादा बार आईपीएल ट्रॉफी जीतने वाली टीम है. मुंबई ने 4 बार आईपीएल (IPL) का खिताब जीता है. ‘हिटमैन’ रोहित शर्मा अपनी सफलता का श्रेय आईपीएल के मुंबई इंडियंस (MUMBAI INDIANS) के पूर्व कप्तान और दिल्ली कैपिटल्स (DELHI CAPITALS) के चीफ़ कोच रिकी पोंटिंग को देते हैं. रोहित शर्मा ने रिकी पोंटिंग की तारीफ़ करते हुए कहा कि उन्होंने अपने करियर के दौरान टीम के सभी खिलाड़ियों को उनकी अहमियत महसूस कराने की कला रिकी पोंटिंग से सीखी, और इस कला के दम पर उनकी टीम इतनी कामयाब हो सकी।

सबसे ज़्यादा बार आईपीएल का खिताब 
गौरतलब है कि, मुंबई इंडियंस (MI) की टीम ने अब तक सबसे ज्यादा 4 बार खिताब जीता है और सभी खिताब रोहित शर्मा की कप्तानी में ही जीती गयी है. 

रोहित शर्मा ने पोंटिंग से क्या सीखा 
‘इंडिया टुडे’ न्यूज़ चैनल के एक विशेष प्रोग्राम में मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने टीम की सफलता और अपनी कप्तानी के तरीके को लेकर खुल कर बात की और रिकी पोंटिंग की प्रशंसा करते हुए अपनी सफलता का श्रेय उन्हें दिया. उन्होंने कहा, “मैच के दौरान मैं यह जानने की कोशिश करता हूं कि कैसे टीम के सभी खिलाड़ियों से उनका छोटे सा छोटा योगदान महत्वपूर्ण है इस बात का अहसास दिला सकूं। जब आप ऐसा कर देते हैं तो खिलाड़ी अपना 200 प्रतिशत देते हैं. और हां इस दौरान मेरा अपना प्रदर्शन भी महत्वपूर्ण होता है. मैंने रिकी पोंटिंग से सीखा था कि आपको टीम में शामिल 10 खिलाड़ियों के अलावा बेंच पर बैठे बाकी खिलाड़ियों को भी मैच का हिस्सा होने का अहसास दिलाते रहना होगा और यह सुनिश्चित करना होगा कि आप सभी से बात करते रहें. यही वजह है कि मैं इस बात को सुनिश्चित करने की कोशिश करता हूं.”

पोंटिंग ने रोहित को क्या सोचने से रोका ?  

रिकी पोंटिंग मुंबई इंडिंयस कोच और कप्तान की भूमिका निभा चुके हैं. ऐसे में पोटिंग की तारीफ़ करते हुए रोहित शर्मा ने कहा की, “जब पोंटिंग मुंबई इंडियंस की टीम का हिस्सा थे तो मुझे उनसे काफी कुछ सीखने को मिला. उन्होंने मुझसे कहा था कि जब आप कप्तानी करते हैं तो आप सिर्फ यह नहीं सोच सकते कि आप उनसे कैसे काम लेंगे. आपको हमेशा उनकी बातों को सुनना होगा.”

खिलाड़ी कैसे बेहतर करेंगे ? 

इस ख़ास प्रोग्राम में जब हिटमैन रोहित शर्मा से पूछा हैं.गया कि वह युवा खिलाड़ियों से बेस्ट प्रदर्शन निकालने के लिए क्या करते हैं, तो उन्होंने कहा कि, आपको यह सुनिश्चित पड़ता है कि आपके खिलाड़ी दबाव महसूस न करें. जब वो दबाव में नहीं होंगे तो वो बेहतर करेंगे. उन्हें लेकर टीम में ज़्यादा बात नहीं होनी चाहिए, क्योंकि बाद में उन्हें सारी बातें पता चल ही जाती