श्रीसंत की मैदान में वापसी, इस टूर्नामेंट में आएंगे नज़र

– विनय कुमार

टीम इंडिया के पूर्व घातक तेज़ गेंदबाज़ एस. श्रीसंत लंबे अरसे बाद एक बार फिर क्रिकेट के मैदान में जलवा बिखेरते नजर आएंगे। 7 साल पहले, 2013 में उन पर मैच फ़िक्सिंग के गंभीर आरोप लगे थे। मैच के दरम्यान ‘स्पॉट फिक्सिंग’ के आरोप में  श्रीसंत पर आजीवन बैन लगा था। लेकिन अदालत ने उन पर लगे आरोपों को खारिज कर दिया और आजीवन बैन को हटा दिया। बहुत ही लंबे अंतराल के बाद श्रीसंत डोमेस्टिक क्रिकेट से एक बार फिर टीम इंडिया में जगह बनाने कि कोशिश में हैं।

ग़ौरतलब है कि Covid-19 की महामारी के कारण अबकी बार BCCI घरेलू क्रिकेट (Domestic Cricket) टूर्नामेंट का आयोजन नहीं कर सकी। लेकिन, खबर है कि जनवरी में 2020-21 में शुरू होने वाले घरेलू सीजन से पहले कई राज्य अपने घरेलू स्तर पर टी20 लीग का आयोजन करने कि योजना बना चुके हैं। और, इस दिशा में कदम आगे बढ़ाने वालों में ‘केरल क्रिकेट एसोसिएशन’ सबसे नया राज्य स्तरीय बोर्ड (State Cricket Board) है।

केरल की रणजी ट्रॉफी में अपने चयन का इंतजार कर रहे श्रीसंत

‘केरल क्रिकेट एसोसिएशन’ (Kerala Cricket Association) की तरफ़ से होने जा रहे टी20 लीग (T20 LEAGUE) से मैदान पर लौटने के इंतज़ार में है। खबर के मुताबिक़ अलाप्पुझा में होने जा रहे ‘केरल प्रजिडेंट टी20 कप’ (Kerala President T20 Cup) के लिए फिलहाल वो बायोबबल (Bio-Bubble) में प्रैक्टिस कर रहे हैं । इस बात की जानकारी ‘केरल क्रिकेट एसोसिएशन’ (Kerala Cricket Association) के अध्यक्ष  सजन. के. वर्गीज ने दी है।

‘स्पोर्टस्टार’ के मुताबिक़ ‘केरल क्रिकेट एसोसिएशन’ की तरफ़ से होने जा रहे इस टूर्नामेंट से श्रीसंत को न सिर्फ क्रिकेट के मैदान पर वापसी का मौका मिलेगा, बल्कि केरल रणजी टीम (Kerala Ranji Team) में चयन के लिये बोर्ड पर दबाव बनाने का एक बेहतरीन अवसर भी मिलेगा। इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि अगर श्रीसंत (domestic Cricket) घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करेंगे, तो यहां से वह आईपीएल IPL T20) और  टीम इंडिया (Team India) में अपनी वापसी का सपना साकार करने में सफल हो भी सकते हैं।

‘केरल क्रिकेट एसोसिएशन’ के अध्यक्ष वर्गीज ने कहा, “यह सच है कि इस टूर्नामेंट में श्रीसंत की गेंदबाजी पर सभी की नजरें होंगी। हर खिलाड़ी जो इस टूर्नामेंट में भाग ले रहा है वह अलाप्पुझा में बनाए गये ‘बायो-बबल’ में रहेंगे। इस लीग की शुरुआत दिसंबर के पहले हफ्ते में होगी, जिसके लिए केरल सरकार से इजाज़त मिलना बड़ी बात है।”

 टीम इंडिया (Team India) के पूर्व घातक गेंदबाज श्रीसंत 2013 से ही प्रोफेशनल क्रिकेट से दूर रहे हैं। मैच फिक्सिंग के आरोप में उन पर लगा 7 साल का बैन सितंबर 2020 में खत्म हो चुका है। इस आरोप ने श्रीसंत का करियर करीब-करीब खत्म ही कर दिया था। अगर श्रीसंत डोमेस्टिक क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो उनकी वापसी हो सकती है आइपीएल में हो भी जाए। लेकिन, टीम इंडिया में उनकी वापसी टेढ़ी खीर है।

ग़ौरतलब है कि, एस. श्रीसंत ने अपने करियर में 27 टेस्ट, 53 वनडे और 10 टी20 मैच खेले हैं। ख़ास बात तो ये है कि श्रीसंत 2007 T20 विश्व कप (T20 World Cup, 2007) और 2011 की वनडे विश्व कप (One Day World Cup, 2011) जीतने वाली महेन्द्र सिंह धोनी (M.S.Dhoni) की कप्तानी में दोनों टीम इंडिया में शामिल थे।