श्रीलंका ने ‘बायो-बबल’ में खिलाड़ियों के दो समूह बनाये : रिपोर्ट

    कोलंबो: कोविड-19 महामारी के खतरे से सतर्कता बरतते हुए श्रीलंका क्रिकेट ने भारत के खिलाफ आगामी सीमित ओवर की श्रृंखला से पहले आकस्मिक योजना के अंतर्गत खिलाड़ियों को ‘बायो-बबल’ में दो समूह में रखा है जिसमें से एक कोलंबो और एक दाम्बुला में है।

    ईएसपीएनक्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार इन दोनों समूहों में से खिलाड़ी सीमित ओवर की श्रृंखला में भारतीय टीम के खिलाफ उतर सकते हैं जिसका वनडे चरण 13 जुलाई से शुरू होगा। श्रीलंकाई टीम के डाटा विश्लेषक जीटी निरोशन भारत के खिलाफ श्रृंखला से पहले कोविड-19 पॉजिटिव आये हैं जिसकी जानकारी क्रिकेट बोर्ड ने दी जबकि बल्लेबाजी कोच ग्रांट फ्लावर एक दिन पहले ही वायरस के लिये पॉजिटिव पाये गये थे।

    श्रीलंका क्रिकेट ने बयान में कहा, ‘‘श्रीलंकाई राष्ट्रीय टीम के डाटा विश्लेषक जीटी निरोशन को कोविड-19 पॉजिटिव पाया गया है।” इसमें कहा गया, ‘‘ग्रांट फ्लावर के कोविड-19 पॉजिटिव आने के बाद राष्ट्रीय खिलाड़ियों, कोचों और सहयोगी स्टाफ का कल पीसीआर परीक्षण कराया गया था जिसमें जी टी निरोशन पॉजिटिव आये।” बयान के अनुसार, ‘‘निरोशन मेडिकल प्रोटोकॉल के अनुसार इलाज करा रहे हैं। ”

    रिपोर्ट के अनुसार श्रीलंकाई टीम के डॉक्टर चिंतित हैं क्योंकि ये दोनों सहयोगी स्टाफ डेल्टा वैरिएंट से संक्रमित हुए हैं जो खतरनाक होने के साथ काफी तेजी से फैलता भी है। पृथकवास में रह रहे सभी खिलाड़ियों का भी परीक्षण कराया गया है। श्रीलंकाई टीम के पृथकवास से निकलने के बाद शुक्रवार को टीम के बायो-बबल में प्रवेश करती लेकिन अब उसे दो दिन और पृथकवास में गुजारकर एक और आरटी-पीसीआर परीक्षण कराना होगा। इनकी जांच के नतीजों से ही तय होगा कि मुख्य टीम भारत के खिलाफ खेल सकती है या नहीं।