Steve Smith-suffered-vertigo-before-second-ton

हालांकि पूर्व कप्तान ने कहा कि उन्हें ‘क्रीज पर थोड़ी देर तक अच्छा नहीं लग रहा था।'

सिडनी.  आस्ट्रेलिया (Australia) के शीर्ष बल्लेबाज स्टीव स्मिथ (Steve Smith) ने खुलासा किया कि भारत (India) के खिलाफ दूसरे वनडे से पहले उन्हें बहुत तेज चक्कर (वर्टिगो) आ रहे थे और उनका मैच में खेलना निश्चित नहीं लग रहा था जिसमें उन्होंने शानदार शतकीय पारी खेली।

स्मिथ (Steve Smith) के 64 गेंद में बनाये गये 104 रन से आस्ट्रेलिया ने रविवार को दूसरे वनडे में चार विकेट पर 389 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया और भारत को 51 रन से हराकर वनडे श्रृंखला में 2-0 से अजेय बढ़त बना ली। हालांकि पूर्व कप्तान ने कहा कि उन्हें ‘क्रीज पर थोड़ी देर तक अच्छा नहीं लग रहा था।’

स्मिथ (Steve Smith)  ने लगातार दूसरा मैन ऑफ द मैच पुरस्कार हासिल करने के बाद क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू से कहा, ‘‘मैं नहीं जानता था कि मैं आज खेलूंगा। मुझे सुबह बहुत तेज चक्कर आ रहे थे और मुझे काफी परेशानी हो रही थी। ”

स्मिथ (Steve Smith)  ने कहा कि टीम के डॉक्टर लेग गोल्डिंग ने उनका उपचार कर राहत दिलायी जिसके लिये उन्होंने उनके सिर के लिये कई मूवमेंट कराये जो वर्टिगो (बिनाइन पैरोक्सीमल पॉजिशनल वर्टिगो- बीपीपीवी) के उपचार के लिये कराये जाते हैं।

कान के अंदर समस्या से बीपीपीवी होता है। उन्होंने कहा, ‘‘डॉक्टर ने मुझे लगता है कि सुबह छह बार मेरे सिर को घुमाने की प्रक्रिया की। जिससे थोड़ा सुधार हुआ। खुश हूं कि मैं एक और अच्छी पारी खेल पाया और टीम की मदद कर पाया। ”(एजेंसी)